Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

डूबे कर्ज पर सख्त हुआ SEBI, बैंकों को RBI रिपोर्ट के 24 घंटों के भीतर करना होगा खुलासा

सेबी ने बैंकों को आदेश दिया है कि उन्हें RBI से असेसमेंट पर फाइनल रिपोर्ट मिलने के 24 घंटों के भीतर NPA का खुलासा करना होगा
अपडेटेड Nov 01, 2019 पर 13:31  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Market Regulator Securities and Exchange Board of India (SEBI) फंसे हुए लोन को लेकर सख्त हो गया है। सेबी ने NPA के सूचना संबंधी नियमों को कड़ा कर दिया है। सेबी ने लिस्टेड पब्लिक बैंकों को आदेश दिया है कि उन्हें Reserve Bank of India से असेसमेंट पर फाइनल रिपोर्ट मिलने के 24 घंटों के भीतर NPA का खुलासा करना होगा।


SEBI ने गुरुवार को कहा- लिस्टेड बैंकों को NPA के डायवर्जेंस और प्रॉविजंस को एनुअल फाइनेंशियल स्टेटमेंट के तहत पब्लिश करने के बजाय रिजर्व बैंक के फाइनल रिस्क अससेमेंट रिपोर्ट की रसीद मिलने के 24 घंटों के भीतर तय नियमों के तहत खुलासा करना होगा। सेबी ने कहा कि यह नई व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है।


इसके पहले RBI के निर्देशों के मुताबिक, बैंक असेट क्लासिफिकेशन में डायवर्जेंस अपने सालाना फाइनेंशियल स्टेटेमेंट में जारी करते थे, लेकिन यह नियम अब बदल गया है।


बता दें कि इसके पहले जुलाई में भी सेबी ने डिस्कलोजर नॉर्म्स में बदलाव किया था। बोर्ड ने एक सर्कुलर जारी कर कहा था कि अगर आरबीआई के असेसमेंट में NPA के एडिशनल प्रोविजनिंग रेलवेंट पीरियड के दौरान प्रोवजिंस और अचानक हुए खर्चों के पहले के प्रॉफिट में 10% से अधिक है, तो बैंकों को असेट क्लासिफिकेशन और प्रॉविजनिंग डायवर्जन को स्टॉक एक्सचेंज के सामने डिस्क्लोज करना होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।