Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन

सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील रामजेठमलानी का उनके आवास में उनका निधन हो गया। वो 95 साल के थे।
अपडेटेड Sep 09, 2019 पर 08:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लंबे समय से बीमार चल रहे सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील राम जेठमलानी का निधन हो गया है। जेठमलानी अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में कानून मंत्री थे। वो बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष भी थे। वर्तमान में वो RJD से राज्य सभा सांसद थे। देश के मशहूर वकीलों में जेठमलानी की गिनती होती थी। उन्होंने 17 साल की उम्र में ही वकालत की डिग्री हासिल कर ली थी। विभाजन से पहले सिंध में उन्होंने एक वकील के रूप में अपने करियर की शुरुआत की थी।


उन्होंने सितंबर 2017 में अपने रिटायरमेंट की घोषणा की थी। एक वकील के तौर पर जेठमलानी ने कई हाई-प्रोफाइल केस लड़े थे। इनमें से कई केस विवादित भी थे। जेठमलानी ने 1959 में प्रसिद्ध नानावटी बनाम महाराष्ट्र राज्य मामले में वकील थे। ये जेठमलानी का पहला चर्चित केस था। जेठमलानी ने राजीव गांधी हत्यारों का मद्रास हाईकोर्ट में 2011 में केस लड़ा। उनका सबसे विवादित केस अफजल गुरु की बचाव करना भी था। साथ ही बहुचर्चित केस जेसिकालाल हत्याकांड में मनु शर्मा का केस भी लड़ा था। 


जेठमलानी का जन्म 14 सितंबर 1923 को सिंध प्रांत के शिकारपुर में हुआ था। इनका पूरा नाम राम बूलचंद जेठमलानी था। उनके बेटे महेश जेठमलानी भी एक बड़े वकील हैं। एक बेटी अमेरिका में रहती है, जबकि एक बेटी का निधन हो चुका है।


पीएम मोदी ने जेठमलानी के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि,
राम जेठमलानी के रूप में देश ने एक शानदार वकील और प्रतिष्ठित व्यक्ति को खो दिया है। उन्होंने कभी भी किसी भी मुद्दे पर अपनी भावनाएं व्यक्त करने में हिचकिचाहट महसूस नहीं की। उनकी सबसे बड़ी खासियत यह थी कि वह सिर्फ अपने मन की बात बोलते थे। उन्होंने बिना किसी डर के ऐसा किया। आपातकाल के दौरान उन्होंने जनता के लिए लड़ाई लड़ी। जरूरतमंद के साथ खड़ा होना भी उनकी बड़ी खासियत थी। मैं अपने आप को भाग्यशाली समझता हूं कि कई मौकों पर उनसे बात करने का मौका मिला। दुख की घड़ी में उनके परिवार, मित्रों और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। वह आज भले ही यहां न हों, लेकिन उनके किए गए कार्य हमेशा रहेंगे।


वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने उनके घर पर जाकर जेठमलानी को श्रद्धांजलि दी। शाह ने कहा कि, पूर्व केंद्रीय मंत्री और सीनियर वकील जेठमलानी के निधन से दुखी हूं। उनके रूप में हमने न केवल एक दिग्गज वकील को बल्कि एक अच्छे इंसान को भी खो दिया है। जेठमलानी जी का जाना पूरे विधि क्षेत्र के लिए एक बड़ी क्षति है। कानूनी मामलों में उनकी जानकारी के लिए उन्हें सदैव याद किया जाएगा।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।