Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

मंदी के चंगुल में फंस गया है शेयर बाजार, जानिए आपका स्टॉक बुलिश है या बियरिश

जानकारों का भी मानना है कि कुछेक ब्लूचिप शेयरों को छोड़कर बाजार बियरिश हो चुका है
अपडेटेड Aug 09, 2019 पर 14:54  |  स्रोत : Moneycontrol.com

स्मॉल और मिडकैप स्टॉक्स बियरिश हो गए हैं। आंकड़ों से तो यही पता चल रहा है। मुश्किल सिर्फ इतनी ही नहीं है। BSE सेंसेक्स भी अब इसी रास्ते पर है।


7 अगस्त तक जुटाए आंकड़ों के मुताबिक, BSE स्मॉलकैप इंडेक्स 39 फीसदी गिरकर 52 हफ्तों के निचले स्तर तक आ गए हैं। वहीं BSE मिडकैप इंडेक्स अपने हाइएस्ट लेवल से 20 फीसदी गिर चुके हैं। इस दौरान BSE सेंसेक्स अपने 52 हफ्तों के हाइएस्ट लेवल-40,312 से 9 फीसदी नीचे आ चुका है।


कैसे जानें मार्केट बियरिश है या नहीं?


शेयर बाजार को बियरिश तब मानते हैं जब शेयरों के प्राइस अपने 52 हफ्तों के हाई से 20 फीसदी तक नीचे गिर जाएं। दो महीने पहले जब बेंचमार्क सूचकांकों में तेजी थी तब भी स्मॉलकैप और मिडकैप शेयरों पर दबाव बना हुआ था। कमजोर नतीजे, ट्रेड वॉर की टेंशन, विदेशी निवेशकों के बिकवाली करने से बेंचमार्क सूचकांक पर लगातार दबाव है।   


इस मामले में एपिक रिसर्च के सीईओ मुस्तफा नदीम ने कहा, बाजार पूरी तरह बियरिश ज़ोन में है। सिर्फ कुछ ब्लूचिप शेयर ही बेहतर ट्रेड कर रहे हैं।


BSE स्मॉलकैप इंडेक्स के 747 शेयरों में से 653 अपने 52 हफ्तों के हाई से 20 फीसदी तक गिर चुके हैं। इनमें Reliance Communications, Reliance Capital, Shankara Building, HEG, Jaiprakash Associates, YES Bank, Indiabulls Ventures, Graphite India, CARE Ratings सहित कई दूसरे शेयर हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (@moneycontrolhindi) और Twitter (@MoneycontrolH) पर फॉलो करें।