Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

33 महीने बाद मिला BCCI को अध्यक्ष, सौरव गांगुली ने संभाला पदभार

टीम इंडिया के पूर्व कैप्टन रॉयल बंगाल टाइगर सौरव गांगुली ने बुधवार को BCCI के 39वें अध्यक्ष के रूप में अध्यक्ष पद संभाल लिया।
अपडेटेड Oct 23, 2019 पर 18:23  |  स्रोत : Moneycontrol.com

टीम इंडिया के सफल कप्तानों में गिने जाने वाले सौरव गांगुली ने BCCI के 39वें अध्यक्ष के रूप में बोर्ड की बागडोर संभाल ली। BCCI को तकरीबन 33 महीने बाद एक नया अध्यक्ष मिला। BCCI को सौरव गांगुली के रूप में क्रिकेट की कमान किसी पेशेवर खिलाड़ी को मिली है।


यह एक संयोग है कि जब सौरव गांगुली को टीम इंडिया की कप्तानी मिली थी। तब टीम इंडिया सट्टेबाज, फिक्सिंग जैसे मामलों से नहाई हुई थी। इन दागों को सौरव गांगुली ने अपनी काबिलियत के दम पर धोया। और टीम इंडिया को एक नई पहचान दी। आज जब BCCI फिर एक बार शर्मशार थी, सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में एक टीम कामकाज देख रही थी। उस स्थिति में BCCI की कमान सौरव गांगुली को मिली। यानी दादा को कमान उस समय मिली जब BCCI की साख खतरे में पड़ी हुई है। ऐसे में क्रिकेट प्रशंसकों को यही उम्मीद है कि BCCI पर लगा धब्बा हमेशा के लिए मिट जाएगा।


सौरव गांगुली हमेशा कड़े फैसले लेने वाले जाने जाते हैं। साथ ही वो फैसला लेने में भी कतई देरी नहीं करते। हमेशा गांगुली के अंदर कुछ नया करने का जुनून सवार रहता है।
गागुंली ने कह कि BCCI क छवि खराब हुई है, लिहाजा उनके पास एक बेहतर मौका है कि इसे ठीक करें। दादा के पास कप्तानी के समय जिस तरह की चुनौतियां थी, वैसी ही चुनौतियां फिर से हैं। ऐसे में अध्यक्ष के तौर पर उनके बेहतर काम करने की चुनौतियां रहेंगी।


बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह को BCCI का सचिव बनाया गया है। साथ ही BCCI के पूर्व अध्यक्ष और मौजूदा वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के छोटे भाई अरुण धूमल को कोषाध्यक्ष और केरल के जयेश जॉर्ज संयुक्त सचिव बनाए गए हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।