Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

रेलवे की कौन सी नई सुविधाएं हैं, जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए

यात्रियों को कन्फर्म सीट मिले या रिजर्वेशन पर पहले ही सीट अवेलेबिलिटी और अलॉटमेंट की जानकारी मिल जाए, इसके लिए कई तरह के बदलाव किए गए हैं
अपडेटेड Sep 04, 2019 पर 10:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय रेलवे से यात्रा करने वाले लोगों को कन्फर्म सीट मिले या रिजर्वेशन पर पहले ही सीट अवेलेबिलिटी और अलॉटमेंट की जानकारी मिल जाए, इसके लिए कई तरह के बदलाव किए गए हैं।


यात्रियों को इस तरह की सारी सुविधाएं मिलें, इसके लिए भारतीय रेलवे ने कई तरह की पहल की है, जिनकी जानकारी हम आपको यहां दे रहे हैं।


देख पाएंगे किस कोच में खाली हैं कितनी सीटें


एयरलाइन मॉडल के तर्ज पर रेलवे ने अपना रिजर्वेशन चार्ट पब्लिक कर दिया है। अब पैसेंजर्स ट्रेन के डिपार्चर के चार घंटे पहले ही ऑनलाइन पहला रिजर्वेशन चार्ट देख पाएंगे। 30 मिनट पहले दूसरा चार्ट पब्लिक किया जाएगा। इन चार्ट्स को देखकर यात्रियों एक्जैक्ट सीटिंग पता चल जाएगी। और किस कोच में बर्थ खाली हैं, यह भी पता चल जाएगा। इससे यात्रियों को सीट अवेलेबिलिटी को लेकर TTE से नहीं उलझना पड़ेगा।


कन्फर्मेशन का परसेंट


रेलवे यह सुविधा पिछले साल से ही उपलब्ध करवा रहा है। CNF Probability फीचर यात्रियों को टिकट बुक करते हुए ही, कन्फर्म होने की संभावना प्रतिशत में बता देता है। इससे पैसेंजर के पास इस बात का भरोसा रहता है कि उसका टिकट कन्फर्म होने की संभावना ज्यादा है। और अगर कन्फर्मेशन के ज्यादा चांस नहीं हैं, तो उन्हें विकल्प नाम से एक सुविधा दी जाती है, जिसमें उनको किसी दूसरी ट्रेन में सीट अलॉट की जाती है।


वेटलिस्टेड और RAC पैसेंजर्स को रनिंग ट्रेन में सीट का चलेगा पता


रेलवे ने अपनी राजधानी और शताब्दी जैसी प्रीमियम ट्रेनों में Hand-Held Terminals कॉन्सेप्ट शुरू किया है। इसके तहत TTEs को GPS इनेबल्ड छोटे टैबलेट जैसे डिवाइस दिए जाएंगे, जो रनिंग ट्रेन में रियल-टाइम सीटिंग की जानकारी देगा। इससे वेटलिस्टेड और RAC में यात्रा कर रहे यात्रियों को सीट मिलने में आसानी होगी। इस डिवाइस से पता चलेगा कि किस स्टेशन पर कितनी सीटें खाली हुईं या फिर किसी स्टेशन पर कितने लोगों ने ट्रेन नहीं पकड़ी, जिनकी सीटें खाली रह गई हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।