Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Nirbhaya Case: SC ने खारिज की दोषी विनय की याचिका, सुनवाई के दौरान जस्टिस भानुमति हुईं बेहोश

कोर्ट ने दोषी की याचिका खारिज करते हुए कहा कि वो मानसिक रूप से स्वस्थ है और उसकी मेडिकल स्थिति भी सही है
अपडेटेड Feb 15, 2020 पर 15:13  |  स्रोत : Moneycontrol.com

दिल्ली गैंगरेप केस (Delhi Gangrape Case) में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सुनवाई करते हुए मौत की सजा पाए दोषी विनय शर्मा की याचिका खारिज कर दी। दोषी ने राष्ट्रपति की ओर से उसकी दया याचिका खारिज किए जाने के आदेश को चुनौती दी थी। कोर्ट ने दोषी की याचिका खारिज करते हुए कहा कि वो मानसिक रूप से स्वस्थ है और उसकी मेडिकल स्थिति भी सही है।


जस्टिस आर भानुमति, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस ए एस बोपन्ना की बेंच ने विनय कुमार शर्मा की याचिका खारिज करते हुए कहा कि इसमें दया याचिका खारिज करने के आदेश की न्यायिक समीक्षा का कोई आधार नहीं है। कोर्ट ने कहा कि राष्ट्रपति के सामने शर्मा की मेडिकल रिपोर्ट सहित सभी जरूरी दस्तावेज पेश किए गए थे और उन्होंने दया याचिका खारिज करते समय सारे तथ्यों पर विचार किया था।


कोर्ट ने मेडिकल रिपोर्ट के मद्देनजर शर्मा की इस दलील को भी खारिज कर दिया कि उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं है और कहा कि इस रिपोर्ट के अनुसार उसकी सेहत ठीक है। याचिका में दलील दी गई थी कि जेल में शारीरिक और मानसिक अत्याचार के चलते उसकी मानसिक स्थिति खराब हो गई है।


बता दें कि निचली अदालत ने 31 जनवरी को अगले आदेश तक के लिए चारों दोषियों- मुकेश कुमार सिंह, पवन गुप्ता, विनय कुमार शर्मा और अक्षय कुमार को फांसी देने पर रोक लगा दी थी। ये चारों दोषी इस समय तिहाड़ जेल में बंद हैं।


वहीं, दूसरी ओर खबर है कि सुनवाई के दौरान जस्टिस आर. भानुमति बेहोश हो गईं, जहां से उन्हें तुरंत उन्हें उनके चैंबर में ले जाया गया। News18 की खबर के मुताबिक, जस्टिस आर. भानुमति चारों दोषियों को अलग-अलग फांसी दिए जाने की केंद्र की याचिका पर सुनवाई कर रही थीं। तभी फैसला लिखे जाने के दौरान वो बेहोश हो गईं। उन्हें तुरंत वहां से चैंबर ले जाया गया। उन्हें थोड़ी देर बाद होश आ गया लेकिन उन्हें व्हील चेयर पर ट्रीटमेंट के लिए ले जाया गया।


जस्टिस बोपन्ना ने सुनवाई को अगले हफ्ते के लिए टाल दिया और कहा कि फैसला बाद में सुनाया जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।