Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

ट्रंप प्रशासन ई-सिगरेट पर लगा सकता हैं बैन, कई लोगों की हो चुकी है मौत

अमेरिका में ई-सिगरेट के चलन से सैकड़ों लोग फेफड़े के रोग से बीमार हैं। ।
अपडेटेड Sep 12, 2019 पर 15:40  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अमेरिका ई-सिगरेट पर बैन लगाने की तैयारी कर रहा है। इस पर बैन लगाने के लिए डॉनल्ड ट्रंप के प्रशासनिक अधिकारियों ने संकेत दिए हैं। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि स्वास्थ्य संबंधी जोखिम को दरकिनार नहीं किया जा सकता। आज के युवा ई-सिगरेट के जाल में तेजी से फंस रहे हैं।


दरअसल अमेरिका में ई-सिगरेट पीने को वेपिंग कहते हैं। जैसे भारत में युवाओं का शौक हुक्का है। वैसे अमेरिका के युवाओं में वेपिंग का शौक बढ़ रहा है। अमेरिका के 33 स्टेट्स में अब तक 6 लोगों की मौत फेपड़े के रोग से हुई है। 450 से अधिक ऐसे लोग पाए गए जिनके फेफडे में बीमारी वेपिंग की वजह से है। इन 450 लोगों की औसतन एज 19 साल है। मतलब है कि युवा पीढ़ी वेपिंग के जाल फंस चुकी है।


अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का कहना है कि देश में वेपिंग एक नई समस्या बनकर उभरी है। खासतौर से ये बच्चों में सबसे अधिक है। इस नई समस्या के बारे में अभिभावक भी नहीं अधिक नहीं जानते। घर में बच्चे अपने पैरेंट्स से कहते हैं, मैं वेपिंग कर रहा हूं। इसका मतबल घर में अभिभावक नहीं जानते। लिहाजा नई युवा पीढ़ी तेजी से वेपिंग में फंस रही है। U.S. के Health and Human Services Secretary Alex Azar कहते हैं कि जल्द ही एक ऐसे मसौदे को अंति रूप देने की तैयारी चल रह है, जिसमें तंबाकू के अलावा अन्य सभी फ्लेवर को बाजार से हटा दिया जाएगा। इसमें निंट, मैथॉल, कैंडी, फ्रूट और अल्कोहल शामिल है।
 
सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।