Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

Twitter ने लॉक किया था अमित शाह का अकाउंट, पहले प्रोफाइल पिक हटाई, फिर लगाई, जानें वजह

ट्विटर ने गृह मंत्री अमित शाह का अकाउंट 12 नवंबर को कुछ समय के लिए लॉक कर दिया था और उनका प्रोफाइल पिक्चर हटा दिया था
अपडेटेड Nov 13, 2020 पर 18:29  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ट्विटर (Twitter) ने गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) का अकाउंट 12 नवंबर को कुछ समय के लिए लॉक कर दिया था और उनका प्रोफाइल पिक्चर हटा दिया था। हालांकि, कुछ समय बाद ही ट्विटर ने अपनी गलती मानते हुए गृह मंत्री का अकाउंट चालू कर दिया और प्रोफाइल पिक भी रीस्टोर कर दिया। अब इस मसले में ट्विटर ने सफाई दी है। ट्विटर के प्रवक्‍ता ने शुक्रवार को अमित शाह के अकाउंट से प्रोफाइल फोटो हटााने को लेकर अपनी गलती स्‍वीकार कर ली है। ट्विटर ने इसे अनजाने में हुई गलती करार दिया और कहा कि गलती से टेम्पररी तौर पर गृहमंत्री का अकाउंट ब्‍लॉक किया गया था, जिसे सुधार लिया गया है और अमित शाह का ट्विटर अकाउंट अब पूरी तरह एक्टिव है।

ट्विटर ने अमित शाह का अकाउंट लॉक किए जाने के पीछे अपनी वैश्विक कॉपीराइट नीति को वजह बताया। ट्विटर की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि वैश्विक कॉपीराइट पॉलिसी के तहत लिए गए इस फैसले को कुछ ही देर बाद वापस ले लिया गया और अकाउंट को फिर से चालू कर दिया गया। ट्विटर ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा, तुरंत ही इस गलती को सुधारा गया और उनकी प्रोफाइल फोटो लगा दी गई है अब उनका अकाउंट एक्‍टिव है।

ट्विटर के कॉपीराइट पॉलिसी में कहा गया है कि सामान्यता फोटो पर फोटोग्राफर का अधिकार होता है, न कि फोटो में दिख रहे शख्स का। ट्विटर पर अमित साह के 23.6 मिलियन फॉलोअर्स है। ऐसी ही घटना कुछ वक्त पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के ट्विटर हैंडल के साथ भी हुआ था। कंपनी ने कॉपीराइट उल्लंघन की बात करते हुए बोर्ड के अकाउंट की डिस्प्ले पिक्चर हटा दी थी।

नोटिस का जवाब 5 दिनों में देने को कहा

ट्विटर की तरफ से अमित शाह की प्रोफाइल पिक को अनजाने में ब्लॉक करने की यह घटना उस दिन हुई जब इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिक मंत्रालय (IT Ministry) ने ट्विटर को नोटिस जारी किया था। ट्विटर द्वारा लेह को लद्दाख की जगह जम्मू कश्मीर का हिस्सा बताने पर मंत्रालय ने नोटिस जारी करते हुए 5 दिनों में इस पर जवाब देने को कहा गया कि आखिर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं की जाए। इससे पहले भी ट्विटर ने लेह को चीन का हिस्सा बता दिया था, जिसके बाद मंत्रालय की तरफ से ट्विटर के सीईओ जैक डोर्जी (Jack Dorsey) को पत्र लिखकर आपत्ति जताई गई थी। इसके बाद ट्विटर ने उस गलती को सुधारा था।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।