Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

CM योगी का बड़ा ऐलान, अब छात्रों को IAS-IPS और PCS की फ्री कोचिंग कराएगी यूपी सरकार

अधिकारियों के अलावा, विभिन्न विषयों के प्रतिष्ठित विशेषज्ञ भी गेस्ट फैकल्टी के तौर पर आमंत्रित किए जाएंगे
अपडेटेड Jan 27, 2021 पर 18:14  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अगर आप उत्तर प्रदेश के निवासी हैं और सिविल सेवा या NDA जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं, तो यह खबर आपके बड़े काम की है। उत्‍तर प्रदेश की योगी आद‍ित्‍यनाथ सरकार आने वाले बसंत पंचमी से राज्य के छात्रों को फ्री कोचिंग (Free Coaching) की सौगात देने जा रही है। मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत सिविल सेवा और NDA जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों को प्रदेश के IAS, IPS और PCS अधिकारी फ्री में कोचिंग देंगे। योगी सरकार बसंत पंचमी से हर मंडल मुख्यालय पर अभ्युदय नाम से निशुक्ल कोचिंग शुरू करने जा रही है।


इस योजना की तैयारी सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की देख-रेख में हो रही है। सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने रविवार को सिविल सेवा और NDA जैसी विभिन्‍न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए फ्री कोचिंग क्लास चलाने की घोषणा की जिसका नाम मुख्‍यमंत्री अभ्‍युदय योजना रखा गया है। सीएम ने कहा कि बसंत पंचमी से इसकी क्लास शुरू करने की तैयारी है। प्रदेश के सभी 18 मंडल मुख्‍यालयों पर आयोजित होने वाली भौतिक कक्षाओं में विशेषज्ञों द्वारा छात्रों का मार्गदर्शन किया जाएगा। अधिकारियों के अलावा, विभिन्न विषयों के प्रतिष्ठित विशेषज्ञ भी गेस्ट फैकल्टी के तौर पर आमंत्रित किए जाएंगे


योगी ने कहा कि सिविल सेवा परीक्षा की प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले अभ्‍यर्थियों को मुख्य परीक्षा की और बेहतर तैयारी के लिए उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं प्रबंधन अकादमी में कोचिंग की व्यवस्था कराई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस योजना के पहले चरण में प्रदेश में सभी 18 मंडल मुख्यालयों पर निःशुल्क कक्षाएं चलेंगी और ऑनलाइन प्रशिक्षण तथा विभिन्न परीक्षाओं के पाठ्यक्रम व परीक्षा प्रणाली आदि के संबंध में अभ्यर्थियों को पूरी जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि मंडल स्तर पर प्रशिक्षण केंद्रों के संचालन व समन्वयन की ज़िम्मेदारी उपाम को दी गई है।


सीएम ने कहा कि ये कोचिंग सेंटर युवाओं को नया मंच देंगे और उन्‍हें उड़ान भरने के लिए प्रेरित करेंगे। उन्‍होंने कहा कि कोरोना काल में राजस्‍थान के कोटा में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे 30 हजार छात्रों को सुरक्षित वापस लाया गया। योगी ने कहा कि तब मैंने कहा था कि अब छात्रों को कोचिंग के लिए दूसरे राज्‍य में नहीं जाना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने फ्री कोचिंग देने की घोषणा की और उसके फौरन बाद इसके लिए रजिस्ट्रेशन भी शुरू हो गए हैं। सबसे पहले पायलट प्रोजेक्ट के लिए गोरखपुर को चुना गया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।