Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

कोरोना वैक्सीन लगवा चुके लोगों में अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 80% तक होगी कम: डॉ वीके पॉल

डॉ. पॉल ने कहा कि नए वेरिएंट आए उसके आने से पहले हमें उससे बचने के लिए तैयार रहना चाहिए
अपडेटेड Jun 19, 2021 पर 08:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल ने शुक्रवार को कहा कि अध्ययनों से पता चलता है कि कोरोना वैक्सीन लेने के बाद व्यक्तियों में अस्पताल में भर्ती होने की संभावना 75 से 80 फीसदी तक कम हो जाती है। डॉ पॉल ने कहा कि वैक्सीनेशन संक्रमण से कम से कम 94 प्रतिशत सुरक्षा देता है। उन्होंने बताया कि ऐसे व्यक्तियों को ऑक्सीजन सपोर्ट की आशंका लगभग 8 फीसदी है और वैक्सीनेशन वाले व्यक्तियों में ICU में प्रवेश का जोखिम केवल 6 फीसदी है।


डॉ पाल ने कहा कि कोरोना वेरिएंट आते रहेंगे और बढ़ते रहेंगे। उसे नियंत्रण करने के फॉमूर्ले में कोई बदलाव नहीं आएगा। नए वेरिएंट आए उसके आने से पहले हमें उससे बचने के लिए तैयार रहना चाहिए। 


वहीं, प्रेस कॉन्फेंस के दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में देश में 62,480 नए मामले सामने आए हैं और पिछले 11 दिनों से एक लाख से कम मामले रिपोर्ट हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना मामलों के पीक में 85 प्रतिशत की कमी देखी गई है।


अग्रवाल ने कहा कि पिछले 24 घंटे में एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 7,98,656 हो गई है। पिछले तीन दिनों में कोरोना के एक्टिव मामलों में 1,14,000 की कमी आई है। अब रिकवरी दर बढ़कर 96 प्रतिशत हो गई है। उन्होंने कहा कि हम हर रोज 18.4 लाख कोरोना टेस्ट कर रहे हैं।


उन्होंने कहा कि 22 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग गई है और 5 करोड़ से अधिक दूसरी डोज लगाई गई है। अग्रवाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्तियों में सेरोपोसिटिविटी दर 56 फीसद और 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों में 63 फीसद है।


जानकारी से पता चलता है कि बच्चे संक्रमित थे लेकिन यह बहुत हल्का था। बच्चों में संक्रमण के केवल अलग-अलग मामले हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि WHO और एम्स के सर्वेक्षण से पता चलता है कि 18 वर्ष से कम और 18 साल से अधिक आयु के व्यक्तियों में सेरोपोसिटिविटी लगभग बराबर है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।