Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

WhatsApp Web के यूजर्स का फोन नंबर फिर Google Search पर लीक, Text Messages भी इंडेक्स कर रहा गूगल

व्हाट्सऐप वेब इस्तेमाल करने वाले यूजर्स का फोन नंबर एक बार फिर से कथित दौर पर गूगल पर लीक हो गया है, यह दावा एक रिपोर्ट में किया गया है
अपडेटेड Jan 18, 2021 पर 16:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

व्हाट्सऐप वेब (WhatsApp Web) इस्तेमाल करने वाले यूजर्स का फोन नंबर एक बार फिर से कथित दौर पर गूगल सर्च पर लीक हो गया है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि WhatsApp Web यूजर्स के फोन नंबर को गूगल सर्च (Google Search) ने इंडेक्स कर लिया है, जिससे कोई भी व्यक्ति गूगल सर्च पर जाकर सही तरके से सर्च करके आपका फोन या मोबाइन नंबर एक्सेस कर सकता है। हालांकि, इसमें यूजर का सिर्फ मोबाइल नंबर दिखता है, यूजर का नाम नहीं। लेकिन ट्रूकॉलर (Truecaller) के जरिये आसानी से WhatsApp Web यूजर का नाम और उनकी पहचान उजागर हो सकती है। 

इंटरनेट सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजहरिया ने दावा किया है कि गूगल सर्च पर व्हाट्सऐप वेब इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के फोन नंबर दिख रहे हैं। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि यह तीसरी बार है जब गूगल पर WhatsApp नंबर लीक हुआ है। राजशेखर ने यह भी दावा किया कि गूगल WhatsApp यूजर्स के टेक्स्ट मैसेज (Text Message) को भी इंडेक्स कर रहा है, जिससे यूजर्स का व्हाट्सऐप चैट लीक हो रहा है।

मना करने के बावजूद गूगल कर रहा इंडेक्स

राजशेखर राजहरिया ने कहा कि अगर कोई व्हाट्सऐप यूजर लापटॉप या कंप्यूटर के जरिये WhatsApp चला रहा है, तो उसका मोबाइल नंबर गूगल इंडेक्स कर ले रहा है। ये मोबाइल नंबर इंडिविडुअल यूजर्स के हैं, बिजनेस हाउसेस के नहीं हैं। एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि व्हाट्सऐप Robots.txt फाइल और डिसएलाऊ ऑल (disallow all) सेंटिंग्स का इस्तेमाल कर रहा है। व्हाट्सऐप ने सभी सर्च इंजन को कुछ भी इंडेक्स नहीं करने को कहा है, इसके बावजूद गूगल व्हाट्सऐप के डेटा को इंडेक्स कर रहा है और उसे अपने सर्च रिजल्ट में दिखा रहा है।

इंडेक्सिंग को रोकने के लिए WhatsApp ने दी थी सफाई

इससे पहले WhatsApp ग्रुप के मैसेज गूगल पर लीक हो गए थे, ऐसे में कोई भी गूगल पर WhatsApp group सर्च करके आपके चैट को पढ़ सकता था और आपके निजी ग्रुप को ज्वाइन भी कर सकता था। WhatsApp की इस गलती की वजह से लोगों के व्हाट्सएप ग्रुप के सभी नंबर्स भी सार्वजनिक हो गए थे। अब WhatsApp ने अपनी इस गलता पर सफाई दी है। WhatsApp ने सोमवार को कहा कि वह अपने यूजर्स और ग्रुप इनवाइट्स की गूगल इंडेक्सिंग को रोकने के लिए जरूरी कदम उठा रहा है। दरअसल, गूगल ने प्राइवेट व्हाट्सऐप ग्रुप चैट्स के लिए इनवाइट लिंक को इंडेक्स किया था, जिसका अर्थ है कि कोई भी आसानी से सर्च कर विभिन्न प्राइवेट चैट ग्रुप में शामिल हो सकता है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।