Moneycontrol » समाचार » ख़बरें

निफ्टी के दो तिहाई शेयर 10-70% तक गिरे, क्या आपको करना चाहिए निवेश?

सेंसेक्स के 30 में से 18 शेयर 10-70 फीसदी गिरकर अपने 52 हफ्तों के निचले स्तर पर ट्रेड कर रहे हैं
अपडेटेड Jul 22, 2019 पर 12:21  |  स्रोत : Moneycontrol.com

निफ्टी के करीब दो तिहाई शेयर अपने 52 हफ्तों के लो पर ट्रेड कर रहे हैं। इन शेयरों में गिरावट की वजह से जून-जुलाई में सूचकांक 5 फीसदी नीचे आ गया है। इन 34 स्टॉक्स में Cipla, Titan, ONGC, Hero MotoCorp, ZEE Entertainment, Sun Pharma, JSW Steel, M&M, Maruti Suzuki और YES Bank सहित कई दूसरे शेयर हैं।


सेंसेक्स के शेयरों में यही ट्रेंड चल रहा है। सेंसेक्स के 30 में से 18 शेयर 10-70 फीसदी गिरकर अपने 52 हफ्तों के निचले स्तर पर ट्रेड कर रहे हैं।


जानकारों का मानना है कि निवेशकों को अट्रैक्टिव वैल्यूएशन देखकर तुरंत इन शेयरों में खरीदारी नहीं करनी चाहिए बल्कि इनके फंडामेंटल्स को भी समझना चाहिए।


SAMCO सिक्योरिटीज के हेड ऑफ रिसर्च उमेश मेहता ने मनीकंट्रोल को बताया कि निफ्टी बाजार को निराश कर रहा है। मैक्रो इकोनॉमी से भी सेंटीमेंट में सुधार नहीं हो रहा है। इस तरह की नेगेटिविटी के बीच किसी शेयर को तुरंत खरीदने के बजाय इंतजार करना सही है।


मेहता ने कहा कि निफ्टी में आग भी गिरावट हो सकती है। निवेशकों को किसी शेयर में पैसा लगाने से पहले इक्विटी पर रिटर्न, फ्रेश कैश फ्लो, कर्ज, प्रमोटर की तरफ से गिरवी शेयर, ऑपरेटिंग एफिशिएंसी सहित कई दूसरे फंडामेंटल्स पर गौर करना चाहिए।


कुल मिलाकर देखें तो बाजार की सिचुएशन बहुत अच्छी नहीं है। NSE के टॉप 500 शेयरों में से 56 स्टॉक्स 50-90 फीसदी गिरकर 52 हफ्तों के निचले लेवल पर आ गए हैं। इनमें SREI Infra, Jain Irrigation, Central Bank, Infibeam, HEG, Graphite India, Reliance Capital, Jet Airways, DHFL, Reliance Communications और Cox & Kings सहित कई दूसरे शेयर हैं।


इन शेयरों में काफी हद तक गिरावट हो चुकी है लेकिन खरीदारी के लिए कुछ इंतजार करना चाहिए। एक्सपर्ट की सलाह है कि लॉन्ग टर्म निवेशकों को फिलहाल इससे दूर रहना चाहिए।