Moneycontrol » समाचार » राजनीति

अमित शाह ने गोडसे पर बयानों से पार्टी को किया अलग, 10 दिनों में मांगी रिपोर्ट

प्रकाशित Fri, 17, 2019 पर 13:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

नाथूराम गोडसे पर दो दिनों से चल रही बहस के बीच भारतीय जनता पार्टी के अब तक कई नेता आपत्तिजनक बयान दे चुके हैं। लेकिन पार्टी इससे खुश नहीं लग रही।


बीजेपी नेता प्रज्ञा ठाकुर, अनंत कुमार हेगड़े और नलिन कुमार कटील ने गुरुवार को नाथूराम गोडसे से हमदर्दी रखते हुए ट्वीट किया था और बयान दिए थे, जिसके बाद से पार्टी ने इनके बयानों से दूरी बना ली है। यहां तक कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने खुद उनपर सवाल उठाए हैं।


अमित शाह ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए कहा कि ठाकुर, हेगड़े और कटील के बयान उनके निजी विचार हैं और पार्टी का इससे कोई संबंध नहीं है। उन्होंने अपने बयान वापस ले लिए हैं और इसके लिए माफी मांगी है। पार्टी ने उनके बयानों को गंभीरता से लिया है और इन बयानों को अनुशासन समिति तक भेजा है।


शाह ने कहा कि कमिटी इन नेताओं से सफाई मांगेगी और पार्टी को अगले 10 दिनों में रिपोर्ट पेश करेगी।


बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर ने गुरुवार को नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था। वहीं, हेगड़े के अकाउंट से ट्वीट किया गया था कि ये वक्त है कि हम इन बयानों पर माफी मांगना बंद कर दें। बाद में ये ट्वीट डिलीट कर दिए गए और हेगड़े ने ट्वीट कर कहा कि उनका अकाउंट हैक कर लिया गया था।


वहीं, कर्नाटक की दक्षिण कन्नड़ सीट से चुनाव लड़ रहे नलिन कुमार ने एक ट्वीट में कहा था कि नाथूराम गोडसे ने एक को मारा था लेकिन राजीव गांधी ने 17,000 को मारा था।