Moneycontrol » समाचार » राजनीति

जम्मू-कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहरा सकते हैं अमित शाह

सुरक्षा कारणों की वजह से अमित शाह के आने की तारीख का खुलासा नहीं हुआ है लेकिन बंदोबस्त देखकर अंदाजा लगाया जा रहा है
अपडेटेड Aug 13, 2019 पर 15:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 और 35A हटाने का ऐतिहासिक फैसला करने के बाद सरकार एक और ऐतिहासिक फैसला करने की तैयारी में है। खबर है कि गृहमंत्री अमित शाह 15 अगस्त को कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहरा सकते हैं।


इलाके की सुरक्षा को देखकर यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि अमित शाह गुरुवार को वहां पहुंच सकते हैं। हालांकि जम्मू-कश्मीर के अधिकारियों ने अभी इस पर सहमति नहीं जताई है। नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर अजित डोवाल ने कहा, वह फिलहाल घाटी के हाल का जायजा ले रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, स्वतंत्रता दिवस के मौके पर डोवाल भी वहां मौजूद रह सकते हैं।


दिल्ली में गृह मंत्रालयों के सूत्रों ने बताया कि अमित शाह घाटी जाने वाले हैं लेकिन इसकी तारीख मीडिया के साथ शेयर नहीं की जा सकती है। एक अधिकारी के मुताबिक, सुरक्षा कारणों और भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़ती टेंशन के कारण गृह मंत्री के घाटी में जाने की तारीख का खुलासा नहीं किया गया है।


गृह मंत्री सामान्य तौर पर बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स के एयरक्राफ्ट से ट्रैवल करते हैं। इसकी जानकारी CISF सहित कुछ दूसरी सुरक्षा एजेंसियों को होती है। सुरक्षा एजेंसियां अमित शाह की सुरक्षा को लेकर सतर्क हैं।


अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी के लिए लाल चौक पर तिरंगा फहराना उनके राजनीतिक करियर के लिए बेहद यादगार पल होगा। 1992 में बीजेपी के सीनियर लीडर मुरली मनोहर जोशी के साथ नरेंद्र मोदी ने लाल चौक पर तिरंगा फहराया था। सबसे पहले जवाहरलाल नेहरू ने 1948 में यहां तिरंगा फहराया था। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।