Moneycontrol » समाचार » राजनीति

गोडसे की बहस पर बोले आनंद महिंद्रा- कुछ चीजें पवित्र ही रहनी चाहिए

प्रकाशित Fri, 17, 2019 पर 12:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मशहूर बिजनेसमैन और महिंद्रा ग्रुप के सीएमडी आनंद महिंद्रा सोशल मीडिया पर काफी मुखर रहते हैं। नाथूराम गोडसे पर चल रही बहस के बीच इस मुद्दे पर उन्होंने भी अपनी राय रखी है।


आनंद महिंद्रा ने प्रज्ञा ठाकुर के नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने के बयान की निंदा करते हुए कहा कि- 75 सालों से भारत महात्मा की भूमि रहा है। जब दुनिया नैतिकता खो चुकी थी, वो रोशनी के स्रोत थे। हमें गरीब समझकर दया दिखाई जाती थी, लेकिन हम हमेशा अमीर थे क्योंकि बापू ने दुनिया भर में अरबों लोगों को प्रेरित किया। कुछ चीजों को पवित्र ही रहने देना चाहिए। वर्ना हम भी जो चीजें हमें बनाए रखती हैं, उन्हें तबाह करके तालिबान बन जाएंगे।


भोपाल से भारतीय जनता पार्टी की कैंडिडेट प्रज्ञा ठाकुर ने गुरुवार को बयान दिया था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त हैं, थे और रहेंगे। उनके इस बयान पर काफी हंगामा मचा हुआ है। उनकी खुद की पार्टी ने खुद को इस बयान से अलग कर लिया और उनसे माफी मांगने को कहा, जिसके बाद प्रज्ञा ने माफी भी मांगी।


गोडसे की बहस की शुरुआत तब हुई, जब पिछले रविवार को मक्कल निधि मय्यम के फाउंडर और प्रेसिडेंट कमल हासन ने महात्मा गांधी की हत्या का संदर्भ देते हुए कहा था कि स्वतंत्र भारत का पहला आतंकवादी हिंदू था। जिसके बाद से बीजेपी कमल हासन पर आक्रामक हो गई थी।