Moneycontrol » समाचार » राजनीति

खर्चीले साबित हो रहे हैं जगन रेड्डी, 73 लाख के खिड़की-दरवाजों के साथ बनवाया 16 करोड़ का ऑफिस और घर

जगन मोहन रेड्डी के सरकार में आने के बाद से उनके कैंप ऑफिस और उनके आवास पर अब तक 16 करोड़ रुपए खर्च किया जा चुका है
अपडेटेड Nov 07, 2019 पर 19:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आंध्र प्रदेश की सरकार के बढ़ते खर्चों को देखते हुए विपक्ष ने जगन मोहन रेड्डी को निशाने पर ले लिया है। जगन मोहन रेड्डी के सरकार में आने के बाद से उनके कैंप ऑफिस और उनके आवास पर अब तक 16 करोड़ रुपए खर्च किया जा चुका है। इन भवनों पर अकेले दरवाजों और खिड़कियों पर 73 लाख रुपए खर्च किए गए हैं।


News18 की खबर के मुताबिक, आंध्र प्रदेश में जगन मोहन रेड्डी की YSR कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने के एक महीने के भीतर ही रोड के चौड़ीकरण और सिक्योरिटी अरेंजमेंट्स वगैरह को लेकर कई सरकारी आदेश जारी किए गए थे।


जगन रेड्डी ने इस साल 30 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी, अगले महीने 25 जून को विजयवाड़ा के पास ताडेपल्ली गांव के उनके आवास के पास के रोड को चौड़ा करने के लिए एक सरकारी आदेश जारी किया गया, इसके लिए 5 करोड़ रुपए जारी किए गए। इसके अगले दिन ही बैरीकेडिंग, गार्ड रूम, पुलिस बैरक, सिक्योरिटी पोस्ट और एक हेलीपैड के निर्माण करने के लिए दूसरा सरकारी आदेश जारी किया गया, जिसके लिए 1.895 लाख रुपए अलॉट किए गए।


इसके बाद 9 जुलाई को इलेक्ट्रिकल सर्विसेज के लिए फिर 8.5 लाख का दूसरा सरकारी आदेश जारी किया गया, वहीं 22 जुलाई को रेड्डी के हैदराबाद के सीएम निवास में सिक्योरिटी अरेंजमेंट के लिए 24.5 लाख रुपए जारी किए गए। सीएम आवास पर एल्युमिनियम के दरवाजे और खिड़की लगाने के लिए 73 लाख रुपए दिए गए।


20 अगस्त को पब्लिक ग्रीवांसेस हॉल के तौर पर प्रजा वेदिका बनवाए जाने के लिए 2.5 लाख सैंक्शन किए गए। वहीं जगन सरकार ने चंद्रबाबू नायडू की पूर्व सरकार की ओर से बनाए गए कॉन्फ्रेंस हॉल को भी यह कहकर गिरवा दिया कि उसका निर्माण अवैध था। यह भवन आठ करोड़ में बनवाया गया था।


यह पूरा खर्च कुल मिलाकर 15.79 करोड़ के आसपास है। इस बहाने विपक्ष को सरकार पर हमला करने का मौका मिल गया है। पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू ने भी इसे ट्वीट कर शर्मनाक बताया है, वहीं उनके बेटे नारा लोकेश ने यह कहते हुए जगन रेड्डी को हिपोक्रेट बताया कि- वो कहते हैं कि वो सैलरी में 1 रुपए लेते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।