Moneycontrol » समाचार » राजनीति

मिजोरम-असम ने सीमा विवाद का सौहार्द्रपूर्ण तरीके से समाधान करने के लिए हुए सहमत, जानिए क्या कहा

NDA शासित राज्यों के बीच 26 जुलाई को सीमा पर हुई झड़प में असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी
अपडेटेड Aug 06, 2021 पर 10:40  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Assam-Mizoram Tension: असम और मिजोरम सरकारों के प्रतिनिधियों ने गुरुवार को ताजा सीमा विवाद पर बातचीत की। दोनों राज्य अंतरराज्यीय सीमा विवाद का सौहार्द्रपूर्ण तरीके से समाधान करने के लिए सहमत हुए। उन्होंने बताया कि असम सरकार ने मिजोरम के खिलाफ जारी एक परामर्श भी रद्द करने का फैसला किया है।


दोनों राज्यों द्वारा जारी एक संयुक्त बयान में कहा गया है कि दोनों राज्य सरकारें अंतर-राज्यीय सीमा क्षेत्रों में शांति कायम रखने को सहमत हुई है और इस सिलसिले में भारत सरकार द्वारा तटस्थ (न्यूट्रल) बल की तैनाती का स्वागत किया।


साझा बयान में कहा गया है कि इस उद्देश्य के लिए, दोनों राज्य अपने-अपने वन और पुलिस बलों को गश्त करने, वर्चस्व स्थापित करने, प्रवर्तन के लिए नहीं भेजेंगे। साथ ही, हाल के समय में दोनों राज्यों के पुलिस बलों के बीच जिन स्थानों पर टकराव हुआ था, उन इलाकों में बलों की नए सिरे से तैनाती नहीं की जाएगी।


इसमें असम में करीमगंज, हैलाकांडी और कछार जिलों तथा मिजोरम के मामित और कोलासिब जिलों में असम-मिजोरम सीमा से लगे सभी इलाके शामिल हैं।


Airtel ने लॉन्च किया ऑफिस इंटरनेट प्लान, Google Cloud और Cisco के साथ हुआ करार


संयुक्त बयान पर असम के सीमा सुरक्षा एवं विकास मंत्री अतुल बोरा और विभाग के आयुक्त एवं सचिव जीडी त्रिपाठी ने तथा मिजोरम के गृह मंत्री लालचमलीयाना और गृह सचिव वनलंगथस्का ने सिग्नेचर किए हैं।


असम के मंत्री अशोक सिंहल द्वारा ट्विटर पर साझा किए गए बयान में कहा गया है कि असम और मिजोरम सरकारों के छह प्रतिनिधि असम और मिजोरम में, खासतौर पर सीमावर्ती क्षेत्रों में रह रहे लोगों के बीच शांति एवं सौहार्द्र को बढ़ावा देने तथा उन्हें कायम रखने के लिए सभी आवश्यक उपाय करने को सहमत हुए।


मिजोरम के मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया कि असम सरकार और मिजोरम सरकार ने आइजोल में वार्ता के बाद आज सफलतापूर्वक एक संयुक्त बयान पर सिग्नेचर किए। दोनों सरकारें मौजूदा तनाव को दूर करने और चर्चा के जरिए टिकाऊ समाधान निकालने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय की पहल को आगे ले जाने के लिए सहमत हुई।


आपको बता दें कि पूर्वोत्तर के इन दो NDA शासित राज्यों के बीच 26 जुलाई को उनकी सीमा पर हुई झड़प में असम के छह पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी और कछार के पुलिस अधीक्षक सहित 50 से अधिक लोग घायल हो गए थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।