Moneycontrol » समाचार » राजनीति

बिहार में विधानसभा से लेकर सड़क तक बवाल, RJD विधायकों को विधानसभा में पुलिस ने पीटा

बिहार के संसदीय इतिहास में मंगलवार का दिन अमंगल साबित हुआ, RJD के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने पुलिस बिल के खिलाफ विधानसभा से लेकर सड़कों तक जमकर उपद्रव किया
अपडेटेड Mar 24, 2021 पर 08:30  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बिहार स्पेशल आर्म्ड पुलिस बिल (Bihar Special Armed Police Bill) के खिलाफ राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेताओं, विधायकों और कार्यकर्ताओं ने आज पूरे दिन बिहार में जमकर बवाल काटा, जिससे बिहार आज एक बार फिर शर्मशार हो गया। इस बिल के विरोध में RJD के विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष विनय कुमार सिन्हा को बंधक बना लिया और उन्हें अपने चेंबर से निकलने नहीं दिया।

विधानसभा अध्यक्ष विनय कुमार सिन्हा ने विधानसभा में मार्शल के साथ पुलिस को बुला लिया। इसके बाद RJD समेत विपक्षी दलों के विधायकों की पुलिस से झड़प हो गई बिहार विधानसभा में मंगलवार को हुए इस बवाल में कई विधायकों, पुलिसकर्मियों और पत्रकारों को चोटें आईं। RJD MLAs ने पुलिस पर विधानसभा में मारपीट का आरोप लगाया, जिससे बिहार की रीजनीति गरमा गई है।

विधानसभा में हुए बवाल में राजद विधायक सतीश दास को गंभीर चोट आई, जिसके बाद उन्हें स्ट्रेचर पर लादकर इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया। वहीं इस नोंकझोंक में CPI के विधायक सत्येन्द्र यादव और RJD MLA रीतलाल यादव भी घायल हो गए। RJD MLA सतीस दास ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उन्हें बुरी तरह पीटा है। घायल विधायकों के लिए एंबुलेंस बुलाया गया और स्ट्रेचर पर लादकर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

विनय कुमार सिन्हा के चेंबर के बाहर विपक्षी विधायकों ने जमकर हंगामा किया, जिसके बाद पटना DM और SSP समेत भारी पुलिस फोर्स सदन के अंदर पहुंची। विपक्षी विधायकों ने पुलिसकर्मियों के साथ जमकर धक्का-मुक्की की। विधायकों की DM और SSP के साथ बदसलूकी की खबरें भी आईं। सुबह से शाम तक पुलिस बिल के खिलाफ सड़क से सदन तक संग्राम छिड़ा रहा।

विरोध के बीच बिल पास

विपक्षी सदस्यों के भारी विरोध के बीच शाम में बिहार स्पेशल आर्म्ड पुलिस बिल पास हुआ। इससे पहले पुलिस बिल की कॉपी फाड़ी गई। साथ ही उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद से बिल की कॉपी छीनने की कोशिश की गई। हालांकि इसका NDA विधायकों ने कड़ा विरोध किया। शाम में जब बिल पेश हुआ तो सदन के अंदर और विधानसभा अध्यक्ष के कार्यालय के बाहर धरना और नारेबाजी शुरू हो गई।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।