Moneycontrol » समाचार » राजनीति

मनमोहन सिंह की सलाह पर लाया गया है नागरिकता संशोधन बिल: BJP

जेपी नड्डा ने राज्यसभा में दिया मनमोहन सिंह के एक पुराने बयान का हवाला
अपडेटेड Dec 12, 2019 पर 09:04  |  स्रोत : Moneycontrol.com

राज्यसभा में बहस का विषय बने नागरिकता संशोधन बिल पर भारतीय जनता पार्टी की तरफ से बयान आया है कि यह बिल पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सलाह पर लाया गया है। बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि यह कदम मनमोहन सिंह की सलाह पर उठाया गया है। नड्डा ने विपक्ष को नसीहत देते हुए कहा कि उसे राजनीतिक हितों के बजाय राष्ट्र के हित में सोचने को कहा। नड्डा ने यह भी दावा कि इस बिल से पूर्वोत्तर की सांस्कृतिक पहचान को कोई खतरा नहीं पहुंचेगा।


राज्यसभा में बिल पर हो रही बहस के दौरान नड्डा ने कहा कि यह बेहद परेशानियों में जीवन जी रहे लाखों लोगों को सम्मान से जिंदगी जीने का अधिकार देते हैं।


नड्डा ने बिल के पक्ष में राज्यसभा में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का 18 दिसंबर 2003 में दिए गए एक बयान का हवाला भी दिया। उस समय मनमोहन सिंह ने तत्कालीन उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को सलाह देते हुए कहा था कि ऐसे प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देने के मामले में सरकार को अपने रवैये को उदार बनाना चाहिए और नागरिकता कानून में बदलाव करने चाहिए। नड्डा ने दावा किया कि मनमोहन सिंह की बात को पूरा करते हुए यह सरकार इस विधेयक का लेकर आई है।


नड्डा ने बिल को लेकर पूर्वोत्तर में चल रही अस्थिरता पर कहा कि पूर्वोत्तर में यह भ्रम फैलाया गया है कि इस क्षेत्र की सांस्कृति पहचान खत्म हो जाएगी। वहां लोगों का अस्तित्व खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह इस बात का पहले ही स्पष्ट आश्वासन दे चुके हैं कि इस विधेयक के कानून बनने के बाद भी इनर परमिट व्यवस्था जारी रहेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।