Moneycontrol » समाचार » राजनीति

पीएम मोदी समेत BJP के वरिष्ठ नेताओं ने सुषमा स्वराज के निधन पर जताया शोक

पीएम मोदी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं सुष्मा स्वराज के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।
अपडेटेड Aug 07, 2019 पर 08:31  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बीजेपी की वरिष्ठ नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का मंगलवार रात 67 साल की उम्र में निधन हो गया। सीने में दर्द के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। स्वराज पिछले काफी समय से बीमार चल रहीं थीं।


पीएम मोदी ने उनके निधन शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि, उनके जाने से भारतीय राजनीति के एक अधयाय का अंत हो गया है। सुषम स्वराज जी अपनी तरह की अलग महिला थी, जो करोड़ों लोगों की प्रेरणा स्रोत थी।


उधर गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कहा कि, सुषमा स्वराज जी का निधन भाजपा और भारतीय राजनीति के लिए एक अपूरणीय क्षति है।


गृहमंत्री अमित शाह ने दुख जताते हुए कहा कि पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता व संसदीय बोर्ड की सदस्य सुषमा स्वराज ने एक प्रखर वक्ता, एक आदर्श कार्यकर्ता, लोकप्रिय जनप्रतिनिधि और एक कर्मठ मंत्री जैसे विभिन्न रूपों में भारतीय राजनीति में अपनी अमिट छाप छोड़ी। उनके रूप में हमने एक विरले, सरल व सादगीपूर्ण नेता खोया है।


मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी शोक प्रकट किया है। ट्विटर पर उन्होंने लिखा कि पूर्व विदेश मंत्री बहन सुषमा स्वराज के निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। ईश्वर से दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने की प्रार्थना करता हू। आप अपने जनसहयोग व राष्ट्र उत्थान के कार्यों के माध्यम से देश व दुनिया के लोगों के दिलों में सदैव जिंदा रहेंगी। विनम्र श्रद्धांजलि!


सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, सुषमा स्वराज जी के निधन से गहरा आघात लगा है। उन्होंने मुझे हमेशा बड़ी बहन का स्नेह दिया और संगठनात्मक सलाह देकर राजनीतिक अभिभावक का फर्ज निभाया। भारतीय राजनीति में मज़बूत विपक्षी और पूर्व विदेश मंत्री के तौर पर उनकी भूमिका को सदैव स्मरण किया जाएगा। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने भी दुख जताते हुए कहा कि, सुषमा स्वराज के निधन से स्तब्ध हूं। एक प्रभावी सांसद संचालक और उत्कृष्ट मानवीय नेता के तौर पर हमेशा याद की जाएंगी।


केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि उन्होंने मुझे छोटे भाई के रूम में माना, बहुत कुछ सिखाया। वह एक अलौकिक वक्ता, प्रखर प्रवक्ता रहीं। मेरे पास शब्द नहीं हैं, मैं बिल्कुल स्तब्ध हूं।