Moneycontrol » समाचार » राजनीति

ब्रिटिश सांसद 'भारत विरोधी गतिविधियों' में शामिल थीं, इसलिए वीजा रद्द हुआ: सरकारी सूत्र

अब्राहम्स कश्मीर पर गठित ऑल पार्टी पार्लियामेंट्री ग्रुप की हेड हैं और कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के खिलाफ हैं
अपडेटेड Feb 19, 2020 पर 09:25  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ब्रिटेन की लेबर पार्टी की सांसद डेबी अब्राहम्स (Debbie Abrahams) को नई दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरने के बाद उनका वीजा खारिज कर दिया गया और उन्हें शहर में दाखिल नहीं होने दिया गया। इस मामले में सरकारी सूत्रों का कहना है कि अब्राहम्स "भारत की राष्ट्र हित विरोधी गतिविधियों" में शामिल थी जिसकी वजह से उनका वीजा खारिज कर दिया गया। सूत्रों ने बताया कि उन्हें 14 फरवरी को ही इसकी जानकारी दे दी गई थी।


अब्राहम्स लगातार कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने का विरोध करती आ रही हैं। सोमवार को जब वह लंदन से दिल्ली पहुंचीं तो उनका वीजा खारिज करके उन्हें दुबई डिपोर्ट कर दिया गया।


सूत्रों के मुताबिक, "डेबी अब्राहम्स को 7 अक्टूबर 2019 को ई-बिजनेस वीजा जारी किया गया था। यह वीजा 5 अक्टूबर 2020 तक लागू था। इस वीजा के तहत वह भारत में बिजनेस मीटिंग अटेंड कर सकती थीं। हालांकि उनका ई-बिजनेस वीजा 14 फरवरी 2020 को खारिज कर दिया गया था क्योंकि उन्हें भारत की हित विरोधी गतिविधियों में शामिल पाया गया।" सूत्रों ने बताया कि अब्राहम्स जब 17 फरवरी को भारत आईं तो उनके पास वीजा नहीं था लिहाजा उन्हें लौटा दिया गया।


अब्राहम्स कश्मीर पर गठित ऑल पार्टी पार्लियामेंट्री ग्रुप की हेड हैं। उनका कहना है कि वह वैलिड वीजा पर अपने दोस्तों से मिलने आ रही थीं लेकिन बिना कुछ बताए उनका वीजा कैंसिल कर दिया गया।


इस पर सरकारी सूत्रों का कहना है, " यूके के नागरिकों को एयरपोर्ट पर वीजा ऑन अराइवल की सुविधा नहीं मिलती है। ई-बिजनेस वीजा जारी करने का मतलब है कि वह सिर्फ बिजनेस मीटिंग के लिए आ सकती हैं अपने परिवार या दोस्तों से मिलने नहीं।"


अब्राहम्स को दुबई डिपोर्ट करने के बाद उन्होंने कहा, "मैंने यह समझने की कोशिश की कि मेरा वीज़ा क्यों रद्द किया गया?"


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।