Moneycontrol » समाचार » राजनीति

अयोध्या फैसला आने के पहले CJI ने यूपी के DGP और मुख्य सचिव को किया तलब

सुप्रीम कोर्ट ने यूपी के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी और डीजीपी ओम प्रकाश सिंह को बुलाया है, जहां वो CJI के साथ मीटिंग करेंगे।
अपडेटेड Nov 08, 2019 पर 14:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

राम मंदिर मामले में फैसले की घड़ी नजदीक आ रही है। सुप्रीम कोर्ट अगले हफ्ते किसी भी दिन फैसला सुना सकता है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने उत्तर प्रदेश के 2 टॉप अधिकारी पुलिस महानिदेशक (DGP) और मुख्य सचिव को दोपहर 12 बजे सुप्रीम कोर्ट बुलाया है। जिस पर दोनों अधिकारी सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुके हैं। माना जा रहा है कि दोनों अधिकारियों से सुरक्षा व्यवस्था के बारे में चर्चा की जा सकती है।
फैसले को लेकर उत्तर प्रदेश के अयोध्या समेत, राजधानी लखनऊ और प्रमुख शहरों में हलचल बढ़ गई है। उम्मीद है कि 17 नवंबर से पहले कभी भी सुप्रीम कोर्ट अयोध्या विवाद पर अपना अंतिम फैसला सुना सकता है।


इसके फैसला आने के पहले राज्य सरकार सूबे में सुरक्षा व्यवस्था पर खास ध्यान दे रही है। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता का कहना है कि सरकार प्रदेश में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए सजग और तत्पर है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कानून व्यवस्था को प्रभावित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही शरारती तत्वों के खिलाफ कड़ी निगरानी रखी जाएगी।


बता दें कि केंद्र ने उत्तर प्रदेश में सुरक्षा के लिए 4,000 केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है और सभी राज्यों को संवेदनशील क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ाने की सलाह दी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।