Moneycontrol » समाचार » राजनीति

जेट संकट पर गहराई राजनीति

प्रकाशित Fri, 19, 2019 पर 15:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

चुनावी माहौल में जेट एयरवेज का संकट मोदी सरकार के लिए परेशानी का सबब बन सकता हैI विपक्ष ने जेट के कर्मचारियों की नौकरियों को लेकर सरकार पर हमला बोल दिया हैI वहीं सरकार की तरफ से इस मुद्दे के जल्द सुलझ जाने के संकेत मिल रहे हैंI


जेट एयरवेज की उड़ान पर ब्रेक लगते ही जेट से जुड़े करीब 22 हजार कर्मचारियों और पायलट्स की नौकरी पर संकट पैदा हो गया हैI दिल्ली-मुम्बई में जेट के पायलट्स और कर्मचारी लगातार सरकार से मामले में दखल देने की अपील कर रहे हैं, ताकि उनकी रोजी-रोटी पर छाया खतरा टल सकेI


चुनावी मौसम में विपक्ष को भी एक बड़ा मुद्दा मिल गया हैI सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कीI मोदी सरकार लोगों की नौकरी छीनने का रिकॉर्ड बना रही हैI जबकि कांग्रेस का कहना है कि पढ़े-लिखे लोग भी इस सरकार में बेरोजगार हो रहे हैंI


जेट संकट से मोदी सरकार के लिए भी बड़ी दुविधा पैदा हो गयी हैI लेकिन वित्तमंत्रालय का कहना है कि इस समस्या का समाधान जल्द हो जाएगाI वहीं बीजेपी का कहना है कि सरकार रेसोल्यूशन प्रोसेस में कोई दखल नहीं देगीI


जेट में हिस्सेदारी खरीदने के लिए चार दावेदारों के नाम तय हो चुकें हैं, लेकिन ये प्रक्रिया पूरी होने में अभी वक्त लगेगाI उसके बाद ही जेट के लिए किसी राहत की उम्मीद की जा सकती हैI


पहले सरकारी कंपनी बीएसएनएल और अब जेट एयरवेज। रोजगार को लेकर मोदी सरकार पहले से विपक्ष के निशाने पर है। ऐसे में 22 हजार जेट के कर्मचारियों के सड़क पर उतर जाने से सरकार पर दबाव बढ़ रहा है लेकिन किंगफिशर के मामले में यूपीए सरकार की फजीहत से सबक लेते हुए सरकार फिलहाल जेट के यात्रियों और हवाई किराए में बेतहाशा हुई बढ़ोत्तरी से निपटने के उपाय ढूंढ रही है।