Moneycontrol » समाचार » राजनीति

लिचिंग का इस्तेमाल कर देश को न करें बदनाम : मोहन भागवत

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि लिंचिंग वेस्टर्न कल्चर है। इसके जरिए भारत को बदनाम नहीं करना चाहिए।
अपडेटेड Oct 09, 2019 पर 09:40  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आज विजय दशमी के दिन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) का स्थापना दिवस है। इस अवसर पर नागुपर में RSS के ऑफिस में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें देश के कई दिग्गज नेता शामिल हुए। संघ प्रमुख मोहन भागवत ने शस्त्र पूजा के बाद स्वयंसेवकों को संबोधित किया। जिसमें उन्होंने आर्टिकल 370 और लिचिंग के मामले में अपनी बात रखी।
संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि, लिचिंग (भीड़ हत्या) वेस्टर्न तरीका है। भारत को बदनाम करने के लिए इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि अपने नजरिए पर हमेशा अडिग रहें भारत एक हिंदू राष्ट्र है।
जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 हटाए जाने पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की जमकर तारीफ की। उन्होंने मोदी सरकार को एक साहसी फैसला लेने वाली सरकार बताया। भागवत ने पाकिस्तानी पीएम इमरान खान पर निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग संघ के बारे में बिना जानकारी के कुप्रचार करते हैं। इमरान खान भी यह बात सीख गए हैं।


उन्होंने चंद्रयान के लिए वैज्ञानिकों की तारीफ की और कहा कि हमारे वैज्ञानिकों ने चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर अपना चंद्रयान विक्रम उतारा। हालांकि इसमें पूर्ण रूप से सफलता नहीं मिली। फिर भी दुनिया को संदेश मिल गया।
उन्होंने कहा कि आज भारत का दबदबा पूरी दुनिया में हो गया है। पिछले कुछ सालों से भारतीयों की सोच में परिवर्तन आया है।
देश की सुरक्षा पर संघ प्रमुख ने कहा कि, सौभाग्य से हमारी स्थल सीमा और जल सीमा पहले की अपेक्षा बेहतर हुई है। देश के अंदर उग्रवादी हिंसा में कमी आई है। उग्रवादियों के आत्मसमर्पण में इजाफा भी हुआ है।
इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, जनरल वीके सिंह, महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीसमौजूद रहे।   


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।