Moneycontrol » समाचार » राजनीति

पाकिस्तान $20 फीस पर अड़ा, 'निराश' भारत करतारपुर समझौते के लिए तैयार

विदेश मंत्रालय ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा है कि वह 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के साथ समझौते पर साइन करने को तैयार है
अपडेटेड Oct 22, 2019 पर 08:59  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत सरकार ने सोमवार को कहा कि वह करतारपुर साहिब कॉरिडोर (Kartarpur Sahib corridor) शुरू करने के लिए पाकिस्तान के साथ समझौते पर साइन करने को तैयार है। पाकिस्तान अड़ा हुआ है कि करतारपुर साहिब दर्शन करने आने वाले हरेक भारतीय से वह 20 डॉलर वसूलेगा। भारत को फीस की रकम पर ऐतराज है, इसके बावजूद वह समझौते पर साइन करने को तैयार है।


विदेश मंत्रालय ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा है कि वह 23 अक्टूबर को पाकिस्तान के साथ समझौते पर साइन करने को तैयार है ताकि 12 नवंबर से पहले करतारपुर का दरबार साहिब गुरुद्वारा जाने के लिए कॉरिडोर शुरू हो जाए।


इस समझौते के तहत पाकिस्तान अपने इलाके में गुरुद्वारा तक कॉरिडोर बनाएगा। वहीं भारत अपनी सीमा में पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक से बॉर्डर तक कॉरिडोर बनाएगा। करतारपुर कॉरिडोर की खासियत है कि यहां से जाने वाले भारतीयों को वीजा नहीं लेना होगा।


विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा है, "समझौते पर साइन करने के दौरान भारत एकबार फिर पाकिस्तान से यह बात करने की कोशिश करेगा कि वह फीस की रकम कम करे।" 
दोनों देशों के बीच पिछले महीने बैठक के तीसरे दौर में भारत ने 20 डॉलर सेवा शुल्क के मामले पर पाकिस्तान के "लगातार अड़े" रहने पर निराशा जताई थी। भारत ने पाकिस्तान को इस शुल्क पर दोबारा विचार करने को कहा था।


भारत और पाकिस्तान ने पिछले साल नवंबर में करतारपुर कॉरिडोर बनाने पर सहमति जताई थी। यह गलियारा पाकिस्तान में करतारपुर स्थित दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक धर्मस्थल से जोड़ेगा। भारतीय श्रद्धालु इससे होकर वीजा मुक्त आवाजाही करेंगे। श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने के लिए सिर्फ एक परमिट लेना होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।