Moneycontrol » समाचार » राजनीति

Jammu and Kashmir: आज गुपकर गठबंधन की अहम मीटिंग, PM मोदी की सर्वदलीय बैठक को लेकर होगी चर्चा

पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला अपने आवास पर पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकर डिक्लेरेशन (PAGD) की बैठक की अध्यक्षता करेंगे
अपडेटेड Jun 22, 2021 पर 11:16  |  स्रोत : Moneycontrol.com

इलाके के विशेष दर्जे की बहाली के लिए पिछले साल जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में बने गुपकर गठबंधन (Gupkar Alliance) के घटक गुरुवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाली सर्वदलीय बैठक की रणनीति तैयार करने के लिए मंगलवार को श्रीनगर (Srinagar) में बैठक करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला अपने आवास पर पीपुल्स अलायंस फॉर गुपकर डिक्लेरेशन (PAGD) की बैठक की अध्यक्षता करेंगे।


उनकी नेशनल कॉन्फ्रेंस (NC) और महबूबा मुफ्ती की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) ने पहले अपनी पार्टियों की बैठकें की हैं और इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय अपने प्रमुखों के ऊपर छोड़ दिया है। NC और PDP दोनों ही PAGD का एक घटक है।


PAGD के प्रवक्ता मोहम्मद युसूफ तारिगामी ने कहा, "PAGD के सभी नेताओं को निमंत्रण दिया गया है और इस बैठक में सभी के शामिल होने की संभावना है, जिसमें गठबंधन के नेता रणनीति के बारे में निर्णय लेंगे।"


J&K: सरकारी नौकरी पाने वालों का होगा CID वेरिफिकेशन, देनी होगी परिवार के राजनीतिक संबंधों की जानकारी


उन्होंने कहा कि गठबंधन के सभी नेताओं से सलाह मशविरा करने के बाद संयुक्त रणनीति अपनाई जाएगी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) (CPIM) के नेता तारिगामी को भी मोदी की बैठक में आमंत्रित किया गया है। मामले से वाकिफ लोगों ने कहा कि PAGD की बैठक के बाद बयान जारी होने की संभावना है।


अब्दुल्ला, जो मोदी की बैठक के लिए आमंत्रित 14 नेताओं में शामिल हैं, वे NC के वरिष्ठ नेताओं के साथ केंद्र के साथ इस तरह की पहली बैठक पर विचार-विमर्श कर रहे हैं।


इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने कहा कि जम्मू-कश्मीर को जल्द ही राज्य का दर्जा दिया जाएगा, जैसा कि पहले पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने वादा किया था, लेकिन क्षेत्र की विशेष स्थिति को बहाल करने पर कोई बातचीत नहीं होगी।


मालूम हो कि 5 अगस्त, 2019 को, केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 (Article 370) के तहत दिए गए जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को वापस ले लिया और तत्कालीन राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित कर दिया, जिसमें पहला विधानसभा के साथ  जम्मू-कश्मीर और दूसरा बिना विधानसभा के लद्दाख बना।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।