Moneycontrol » समाचार » राजनीति

Karnataka Political Crisis: कुमार स्वामी सरकार की आज होगी अग्निपरीक्षा

कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर की कुमार स्वामी सरकार के भविष्य पर फैसला हो सकता है। आज कांग्रेस-जेडीएस का फ्लोर टेस्ट होने की संभावना है।
अपडेटेड Jul 22, 2019 पर 09:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सियासी संकट में घिरी कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की राज्य सरकार की किस्मत का फैसला सोमवार को होने की संभावना है। विधानसभा में विश्वास मत पर आज वोटिंग हो सकती है। इसके पहले राज्यपाल वजूभाई वाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को पत्र लिखकर दो बार फ्लोर टेस्ट कराने को कहा था, लेकिन शुक्रवार को वोटिंग नहीं हो सकी थी। इसके बाद स्पीकर केआर रमेश कुमार ने विधानसभा की कार्यवाही सोमवार तक स्थगित कर दी थी। 


खबरों के अनुसार विधायक एच नागेश और आर शंकर को फ्लोर टेस्ट से पहले सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं। विधायकों ने सोमवार को शाम 5 बजे तक विश्वास मत को पूरा करने के लिए सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप की मांग करने की मांग याचिका में की है।




राजनीतिक समीकरण :-



कांग्रेस के 16 विधायकों में से 13 और जेडीएस के तीन विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। जबकि निर्दलीय विधायक आर शंकर और एच नागेश ने गठबंधन सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया।


कांग्रेस के एक सदस्य रामलिंग रेड्डी ने कहा कि वह सरकार का समर्थन करेंगे। सत्तारूढ़ गठबंधन की ताकत 117 विधायकों की है जिसमें कांग्रेस 78, जेडी (एस) 37, बसपा 1, और अध्यक्ष के अलावा 1 नामित सदस्य है।


दो निर्दलीय उम्मीदवारों के समर्थन के साथ, विपक्षी भाजपा के पास 225 सदस्यीय सदन में 107 विधायक हैं। यदि 15 विधायकों के इस्तीफे (कांग्रेस से 12 और जेडीएस से 3) स्वीकार किए जाते हैं या यदि वे मतदान में भाग नहीं लेते हैं। तो सत्तारूढ़ गठबंधन की संख्या 101 हो जाएगी, (अध्यक्ष को छोड़कर) जिससे सरकार अल्पमत में आ जाएगी।




बीजेपी का दावा :-



बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के पूर्व सीएम बी. एस येदियुरप्पा ने भरोसा जताया है कि सोमवार को कुमार स्वामी सरकार का आखिरी दिन होगा।


कुल मिलाकर अब कुमार स्वामी सरकार का भविष्य बागी विधायकों के हाथ में है। उम्मीद कम ही है कि बागी विधायक वापस आयेंगे।