Moneycontrol » समाचार » राजनीति

Exit Poll results 2019: NDA को बहुमत नहीं आया तो ये होंगे किंगमेकर

प्रकाशित Wed, 22, 2019 पर 13:20  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लोकसभा चुनाव 2019 संपन्न हो चुके हैं। उम्मीदवारों की किस्मत भी ईवीएम में कैद हो चुकी है। कल से उम्मीदवारों क किस्मत का ताला खुलेगा। वैसे तो एग्जिट पोल ने एनडीए को बहुमत के साथ मोदी सरकार के आने का दावा किया है। लेकिन कांग्रेस का काहना है कि एग्जिट पोल के उलट चुनाव परिणाम आएंगे। अन्य रजनीतिक दल भी अपनी-अपनी जीत का दावा ठोंक रहे हैं। कुल मिलाकर किसे मिलेगी जीत और कौन बैठेगा पीएम की कुर्सी पर य तो कल शाम तक ही पता चलेगा।


 लेकिन जैसा कि कहते हैं सियासी मैदान अनिश्चतताओं का खेल होता है। यहां कब किसी बाजी पलट जाए कुछ कहा नहीं जा सकता है। ऐसे में क्षेत्रीय राजनीतिक दल किंगमेकर की भूमिका निभा सकते हैं। जिनका सरकार बनाने में अहम योगदान रहेगा।


नवीन पटनायक


ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक बीजू जनता दल के प्रमुख हैं। पिछली लोकसभा में बीजू जनता दल के 18 सांसद लोकसभा में पहुंचे थे। नवीन पटनायक राहुल गाधी के करीबी माने जाते हैं। लेकिन ओड़िशा में आए फोनी की वजह से उनके नवीन के संकेत एनडीए की तरफ दिख रहे हैं। दरअल फोनी के दौरान बेहतर काम करने के लिए पीम मोदी ने नवीव पटनायक की सराहना की थी।


चंद्रशेखर राव



केसीआर के नाम से पहचान बना चुके राव तेलंगाना के सीएम हैं। एंगिजट पोल में राव की पार्टी को तकरीबन 10 सांसद मिलते हुए दिखाया जा रहा है। ऐसे में राव के एनडीए की तरफ झुकने के कयास लगाए जा रहे हैं।
जगमोहन रेड्डी
वाईएसआर प्रमुख जगमोहन रेड्डी अपने विपक्षी चंद्रबाबू नायडू से ज्यादा सीटें ला सकते हैं। बीजेपी और कांग्रेस दोनो उनको अपने खेमें शामिल करने की कोशिश कर रही है। जगन की मांग  है कि आंध्र प्रदेश को स्पेशल स्टेटस का दर्जा दिया जाए। ऐसे में उम्मीद है कि इस मांग के आधार पर बीजेपी अपने पाले में शामिल कर सकती है।


ममता बनर्जी



ममता बनर्जी का बीजेपी से मतभेद जगजाहिर है। ऐसे में किंगमेकर की भूमिका के लिए ममता बनर्जी का झुकाव राहुल गांधी की तरफ ज्यादा हो सकता है।


सपा-बसपा


सपा, बसपा और आरएलडी यानी राष्ट्रीय लोक दल ने मिलकर लोकसभा चुनाव में मैदान में उतरे थे। एनडीए से फिलहाल इस गठबंधन का वैचारिक मतभेद है। इस लिए कांग्रेस की तरफ झुकाव माना जा सकता है। लेकिन हाल ही में सीबीआई ने अखिलेश और मुलायाम के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में क्लीन चिट दे दी है। लिहाजा ये क्लीन चिट किधर झुकाव कर दे ये बाद में पता चलेगा।


एम के स्टालिन


डीएमके के अध्यक्ष स्टालिन सार्वजनिक स्थल पर राहुल गांधी को पीएम बनाने के लिए मांग करते हैं। इसलिए स्टालिन का झुकाव भी राहुल की तरफ होने की उम्मीद जताई जा रही है।