Moneycontrol » समाचार » राजनीति

कोलकाता हिंसा को लेकर BJP-TMC में रार, शाह ने कहा- TMC के गुंडों ने तोड़ी विद्यासागर की मूर्ति

प्रकाशित Wed, 15, 2019 पर 12:44  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मंगलवार को कोलकाता में हुए भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की रैली में झड़प को लेकर दोनों पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रही हैं। शाह की रैली में बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हो गई थी। इस दौरान ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी गई।


टीएमसी ने आरोप लगाया है कि बीजेपी के समर्थकों ने उनकी मूर्ति तोड़ी है। टीएमसी ने इस संबंध में चुनाव आयोग से मिलने की मांग की है। टीएमसी ने एक ट्वीट में कहा कि डेरेक ओब्रायन, सुखेंदु शेखर राय, मनीष गुप्ता, नदीमुल हक वाली तृणमूल संसदीय टीम कोलकाता में शाह के रोड शो के बाद बंगाल की संपदा पर हुए हमले को लेकर चुनाव आयोग से मुलाकात करना चाहती है। बीजेपी के बाहरी गुंडों ने आगजनी की और विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ दिया।


वहीं अमित शाह ने कहा कि मूर्ति बीजेपी के नहीं टीएमसी के समर्थकों ने तोड़ी है।


शाह ने बनर्जी के उन बयानों को भी खारिज किया, जिसमें वो उन्हें बाहरी बताती रही हैं। शाह ने कहा कि बनर्जी उन्हें बाहरी क्यों बताती हैं? वो पश्चिम बंगाल आए हैं, जो भारत का हिस्सा है। वो एक राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष हैं और वो यहां चुनाव प्रचार करने आए हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि अगर वो बाहरी हैं तो जब बनर्जी दिल्ली आती हैं, तो उन्हें बाहरी क्यों न कहा जाए?


बता दें कि शाह के मंगलवार को हुए रोड शो के दौरान बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे। अधिकारियों ने बताया कि शहर के कुछ हिस्सों में हिंसा भड़क उठी जब विद्यासागर कॉलेज के भीतर से टीएमसी के कथित समर्थकों ने शाह के काफिले पर पथराव किया जिससे दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच झड़प हुई। 


गुस्साए बीजेपी समर्थकों ने भी उसी तरह प्रतिक्रिया दी और कॉलेज के एंट्रीगेट के बाहर टीएमसी कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट करते नजर आए। कॉलेज के बाह खड़ी कई मोटरसाइकलों को जला दिया गया। इसी दौरान ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति भी तोड़ी गई।


रैली से शाह को पुलिस ने सुरक्षित निकाला। शाह ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी ने हिंसा भड़काने की कोशिश की और उनकी पार्टी के गुंडों ने उनपर हमला करने की कोशिश की।


वहीं ममता बनर्जी ने उलट शाह पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि क्या शाह खुद को भगवान समझते हैं, जो कोई उनका विरोध नहीं करेगा? उन्होंने कहा कि उन्हें बीजेपी के तौर तरीकों से नफरत है और वो बीजेपी को बंगाल की संस्कृति पर हमला करने नहीं देंगी।