Moneycontrol » समाचार » राजनीति

NDA को रोकने के लिए पीएम पद का त्याग : कांग्रेस

कांग्रेस के सीनियर लीडर गुलाब नबी आजाद ने कहा है कि एनडीए को रोकने के लिए सबसे गठबंधन के लिए तैयार हैं। साथ पीएम का पद न मिलने पर भी गठबंधन होगा।
अपडेटेड May 16, 2019 पर 11:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

चुनावों की अमरबेल अभी खत्म भी नहीं हुई, कि पीएम के पद को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म होने लगा है। लोकसभा चुनाव 2019 का अभी सातवां चरण बाकी है। लेकिन कांग्रेस ने पीएम पद को लेकर दांव-पेंच खेलना शुरु कर दिया है।


 दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाब नबी आजाद ने कहा है कि कांग्रेस को बहुमत न मिलने की स्थिति में गठबंधन के लिए तैयार हैं। इस गठबंधन में यदि पीएम का पद नहीं मिलता तो भी गठबंधन किया जाएगा। आजाद का कहना है कि हमारा मकसद पीएम पद मिलना नहीं, बल्कि एनडीए को केंद्र में सरकार बनाने से रोकना है। आजाद ने आगे कहा कि हमने अपना पक्ष पहले ही रख दिया है। अगर कांग्रेस के पक्ष में सहमति बनती है तो नेतृत्व स्वीकार करने के लिए हम तैयार हैं।


 कुल मिलाकर आजाद के बयानों से ये संकेत निकल रहे हैं कि कांग्रेस आम चुनावों के नतीजों को लेकर ज्यादा उत्साहित नहीं है। लेकिन एनडीए को रोकने के लिए गठबंधन के लिए तैयार है।


दरअसल बीजेपी नेता और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि यदि कांग्रेस को लगता है कि सत्ता में लौट रहे हैं तो अपने पीएम कैंडिडेट का खुलासा करें।


वहीं कांग्रेस के सीनियर लीडर कपिल सिब्बल ने कहा था कि उनकी पार्टी को बहुमत मिलने की उम्मीद कम है। लेकिन यूपीए को बहुमत मिल सकता है। साथ ही पीएम के पद को लेकर कहा कि अगर कांग्रेस को 272 सीटें मिलती हैं तो फिर राहुल गांधी को पीएम बनना चाहिए।