Moneycontrol » समाचार » राजनीति

महाराष्ट्र राजनीति: धनुष बाण पर बंध सकती है घड़ी, हाथ का रहेगा बाहर से समर्थन

महाराष्ट्र के सियासी अखाड़े में शिवसेना NCP के साथ मिलकर सरकार बना सकती है। जबकि कांग्रेस बाहर से समर्थन दे सकती है।
अपडेटेड Nov 05, 2019 पर 14:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र में बारिश होने के बाद में सियासी पिच में कोई नरमी नहीं आई है। शिवसेना अपनी मांग पर अड़ी हुई है और BJP इस मांग से कोसों दूर भाग रही है। जाहिर है कि ऐसे में सियासी अखाड़े में नए समीकरण बनने में कोई देरी नहीं होती है।


ये नए ऐसे समीकरण बनने जा रहे हैं जो महाराष्ट्र के सियासत में एक नए सफर की शुरआत कर सकते हैं। दरअसल मामला कुछ यूं है कि BJP-शिवसेना को समर्थन मिलने के बावजूद भी सरकार बनने के अभी तक कोई आसार नहीं दिख रहे हैं। ऐसे में कल दिल्ली में सोनिया गांधी और शरद पवार की मुलाकात इसके साथ सूबे के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और अमित शाह के साथ मुलाकात के बाद सूबे की राजनीति में नए करवट दिख रहे हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक, शरद पवार और सोनिया गांधी के हुई मीटिंग के बाद NCP और शिवसेना मिलकर सरकार बनाने के लिए तैयार हो सकते हैं। जिसमें कांग्रेस बाहर से समर्थन करेगी। साथ ही कांग्रेस को विधान सभा अध्यक्ष का पद दिया जा सकता है। इस मीटिंग से पहले शिवसेना नेता संजय राउत और NCP चीफ शरद पवार के साथ हुई मुलाकात से अटकलों का बाजार गर्म हो गया था।


अगर NCP और शिवसेना मिलकर सरकार बनाते हैं तो NCP चाहती है कि CM शिवसेना का हो और डेप्युटी सीएम NCP का नेता होगा।


उधर NCP अध्यक्ष ने कहा कि सूबे में शिवसेना-BJP की सरकार बननी थी, हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है। लेकिन भविष्य के लिए कुछ भी कह नहीं सकते हैं।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।