Moneycontrol » समाचार » राजनीति

मुंबई में सेना तैनात करने की खबरें महज अफवाह, महाराष्ट्र की जनता ही सेना: उद्धव ठाकरे

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मुंबई को सेना को सौंप दिया जाएगा। पुलिस के जवान चौबीसों घंटे काम करने के बाद थक गए हैं। उन्हें आराम की जरूरत है, ऐसा ठाकरे ने कहा है।
अपडेटेड May 10, 2020 पर 07:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को प्रमुख कोरोनोवायरस हॉटस्पॉट मुंबई में सेना को बुलाए जाने की अटकलों का खंडन किया है। एक लाइव वेबकास्ट में, उन्होंने कहा कि यदि आवश्यक हो तो केन्द्र सरकार से अतिरिक्त कार्यबल की मांग की जा सकती है ताकि राज्य पुलिस बल को कुछ आराम और राहत मिले।


लोगों से अफवाहों पर विश्वास न करने के लिए कहते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार आवश्यकता पड़ने पर पुलिस कर्मियों को चरणबद्ध तरीके से आराम करने में सक्षम बनाने के लिए केंद्र से अतिरिक्त कार्यबल की  मांग कर सकती है।


लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मुंबई को सेना को सौंप दिया जाएगा। पुलिस के जवान चौबीसों घंटे काम करने के बाद थक गए हैं, कुछ बीमार पड़ गए हैं और उनमें से कुछ ने वायरस से संक्रमित होकर उसके आगे विवश हो गये है। उन्हें आराम की जरूरत है, ऐसा ठाकरे ने कहा है।


उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि यहां वायरस का प्रसार जारी है, राज्य अभी तक संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने में सफल नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि 17 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ाया जाएगा या नहीं, यह इस बात पर निर्भर करेगा कि लोग अनुशासन कायम रखते हैं और नियमों का पालन करते हैं।


हमें एक न एक दिन तालाबंदी से बाहर आना होगा। हम स्थायी रूप से इस तरह नहीं रह सकते। लेकिन इससे जल्द ही बाहर आने के लिए, आपको नियमों का पालन करने की आवश्यकता है। ठाकरे ने जोर देकर कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का अनुशासन बनाए रखें और फेस मास्क का इस्तेमाल करें।


उद्धव ठाकरे ने आगे कहा कि मुंबई में सेना तैनात करने की खबरें महज अफवाह है। महाराष्ट्र की जनता ही हमारी सेना है। कोरोना को लेकर हमें सतर्क रहना है। लोग लॉकडाउन का सख्ती से पालन करें। लापरवाही करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। अस्पताल में भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कोरोना के 80 फीसदी मामले बिना लक्ष्ण (Asymptomatic) वाले हैं। मुंबई में अब तक 1 लाख लोगों के टेस्ट किए गए हैं। उन्होंनें लोगों से अपील की कि कोरोना के लक्षण हों तो डॉक्टर से संपर्क करें। मुंबई में टेस्टिंग कम नहीं की जाएगी।  कोरोना की चेन तोड़ने में अभी कामयाबी नहीं मिली है।


पुलिस वालों को बारी-बारी से आराम देंगे। सेना तैनाती पुलिस फोर्स को आराम देने के लिए हो सकती है। पुलिस फोर्स को आराम देने की सख्त जरूरत है। केंद्र से सेना की मांग करने पर विचार जारी है। पुलिस को आराम देने के लिए सेना की मांग संभव है।  सभी लोग तनाव में काम कर रहे हैं। सरकार ने मॉनसून को देखते हुए तैयारी शुरू कर दी है। मॉनसून को देखते हुए नए क्वारंटीन सेंटर बनाए जा रहे हैं। कोरोना से निपटने के लिए सेना की जरूरत नहीं है। मुंबई में सेना तैनात करने की खबरें महज अफवाह है।


उन्होंने आगे कहा कि प्रवासी मजदूर श्रमिक ट्रेन के लिए भीड़ न करें। प्रवासी मजदूर संयम बनाए रखें,संकट बहुत गंभीर है। जालाना में हुए हादसे से बेहद दुखी हूं। प्रवासी मजदूर परेशान न हों, हम उनके साथ हैं। कोरोना संकट में पूरा विपक्ष सरकार के साथ है।  
   


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।