Moneycontrol » समाचार » राजनीति

महाराष्ट्र में मुस्लिमों को शिक्षा में मिलेगा 5% आरक्षण, NCP लेकर आई है प्रस्ताव

NCP के नेता नवाब मलिक ने शुक्रवार को विधान परिषद में कहा कि मुस्लिम समाज को शिक्षा में आरक्षण दिया जाएगा
अपडेटेड Feb 29, 2020 पर 13:21  |  स्रोत : Moneycontrol.com

महाराष्ट्र की गठबंधन की महा अघाड़ी विकास सरकार राज्य में मुस्लिमों को शिक्षण संस्थाओं में पांच फीसदी आरक्षण दे सकती है। यह प्रस्ताव जल्द ही महाराष्ट्र विधानसभा में लाया जा सकता है। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने शुक्रवार को बताया कि बजट सत्र में यह प्रस्ताव लाया जा सकता है।


नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता नवाब मलिक ने शुक्रवार को विधान परिषद में कहा कि मुस्लिम समाज को शिक्षा में आरक्षण दिया जाएगा, जिसके लिए सरकार अध्यादेश लाएगी। मलिक ने कहा कि पिछली बीजेपी सरकार ने शिक्षा में मुस्लिमों को आरक्षण नहीं दिया था, लेकिन शिवसेना के नेतृत्व में एनसीपी और कांग्रेस के साथ बनी महाअघाड़ी सरकार में यह आरक्षण दिया जाएगा।


मलिक ने यह भी कहा कि सरकार मुस्लिम युवाओं को नौकरी में भी आरक्षण देने पर विचार कर रही है, अभी इसके कानूनी पक्षों पर विचार किया जा रहा है।


बता दें कि बीजेपी की पिछली सरकार के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आरक्षण देने के पक्ष में फैसला दिया था लेकिन इसके बावजूद फडणवीस सरकार अध्यादेश लेकर नहीं आई थी।


नवाब मलिक की इस घोषणा पर कांग्रेस और शिवसेना ने सहमति जताई है। कांग्रेस के MLA ज़ीशान सिद्दीकी ने कहा है कि यह सही फैसला है और इससे युवाओं को बेहतर शिक्षा हासिल करने का मौका मिलेगा, वहीं शिवसेना की तरफ से मंत्री अनिल परब ने कहा कि आरक्षण को लेकर जो भी फैसला लिया गया है, वो महाअघाड़ी का फैसला है और उसमें शिवसेना की भी सहमति है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।