Moneycontrol » समाचार » राजनीति

राफेल पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामन का कांग्रेस पर पलटवार

प्रकाशित Sat, 09, 2019 पर 11:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारामन ने राफेल मामले को लेकर कांग्रेस पर पलटवार किया है। हमारे सहयोगी चैनल सीएनएन-न्यूज़18 से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि देश की सबसे पुरानी पार्टी की दिलचस्पी राफेल का सच जानने में नहीं है, बल्कि इसकी आड़ में गंदी राजनीति करने की है।


इससे पहले राहुल गांधी ने राफेल डील में सीधा प्रधानमंत्री कार्यालय पर हमला बोला है। शुक्रवार को द हिंदू अखबार में छपी एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री राफेल डील में सीधे तौर पर शामिल हैं। अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक जब डील की बातचीत चरम पर थी, तब रक्षा मंत्रालय ने आपत्ति जताई थी कि प्रधानमंत्री कार्यालय राफेल डील में समानांतर बातचीत कर रहा है।


रिपोर्ट में रक्षा मंत्रालय के दस्तावेजों का हवाला दिया गया है और कहा गया है रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने पीएमओ से कहा था कि समानांतर बातचीत सौदे में दिक्कत पैदा कर सकती है। इसी रिपोर्ट के आधार पर राहुल ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री के खिलाफ अपने आरोप दोहराए और कहा कि संयुक्त संसदीय समिति में इस सौदे की जांच होनी चाहिए।हालांकि रिपोर्ट छापने वाले अखबार द हिंदू पर अब तथ्यों को छुपाने का भी आरोप लगा है।


दरअसल रिपोर्ट में तब के रक्षा मंत्री मनोहर पारिकर के कमेंट को जानबूझकर छुपा दिया गया। हालांकि आज हिंदू अखबार ने पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर परिक्कर की पूरी चिट्ठी छाप दी है। अखबार का आरोप है कि रक्षामंत्री ने अधिकारियों की चिंता को तवज्जो नहीं दी है।


इस पर द हिंदू ग्रुप के चैयरमेन एन राम ने कहा कि उन्हें निर्मला सीतारामन के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है।वो तत्कालीन रक्षामंत्री का बचाव कर रही है। निर्मला सीतारामन तो डील में शामिल नहीं थी।