Moneycontrol » समाचार » राजनीति

PM मोदी का ममता बनर्जी पर हमला, TMC सरकार पर 70 लाख से अधिक किसानों के पैसे रोकने का लगाया आरोप

प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मिलने वाले वित्तीय लाभ की अगली किस्त जारी कर दी
अपडेटेड Dec 26, 2020 पर 11:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Shri Narendra Modi) ने शुक्रवार (25 दिसंबर) को पीएम किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) के तहत मिलने वाले वित्तीय लाभ की अगली किस्त जारी कर दी। इस दौरान प्रधानमंत्री ने विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के लाभार्थी छह किसानों के साथ संवाद किया। पीएम मोदी ने केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के 9 करोड़ से अधिक लाभार्थियों के बैंक खाते में योजना की अगली किश्त के तौर पर 18,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि भेजने के कार्य का बटन दबाकर शुभारंभ किया। 


इस दौरान पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज देश के 9 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों के बैंक खाते में सीधे, एक क्लिक पर 18 हजार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। जब से ये योजना शुरू हुई है, तब से 1 लाख 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा किसानों के खाते में पहुंच चुके हैं। इस दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मुझे आज इस बात का अफसोस है कि मेरे पश्चिम बंगाल के 70 लाख से अधिक किसान भाई-बहनों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। बंगाल की सरकार के राजनीतिक कारणों से उनके राज्यों के किसानों को पैसे नहीं मिल रहे हैं।


उन्होंने कहा कि बंगाल के 23 लाख से अधिक किसान इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर चुके हैं। लेकिन राज्य सरकार ने वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को इतने लंबे समय से रोक रखा है। पीएम मोदी ने कहा कि स्वार्थ की राजनीति करने वालों को जनता बहुत बारीकी से देख रही है। जो दल पश्चिम बंगाल में किसानों के अहित पर कुछ नहीं बोलते वो दल यहां किसान के नाम पर दिल्ली के नागरिकों को परेशान करने में लगे हुए हैं, देश की अर्थनीति को बर्बाद करने में लगे हुए हैं।


पीए मोदी ने कहा कि जो लोग 30-30 साल तक बंगाल में राज करते थे, एक ऐसी राजनीतिक विचारधारा को लेकर उन्होंने बंगाल को कहां से कहां लाकर खड़ा कर दिया है, ये सारा देश जानता है। विपक्षी पार्टियों पर हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जो दल पश्चिम बंगाल में किसानों के अहित पर कुछ नहीं बोलते, वो यहां दिल्ली में आकर किसान की बात करते हैं। इन दलों को आजकल APMC मंडियों की बहुत याद आ रही है। लेकिन ये दल बार-बार भूल जाते हैं कि केरला में APMC मंडियां हैं ही नहीं। लेकिन केरल के लोग कभी आंदोलन नहीं करते।


मोदी ने कहा कि आप ममता जी के 15 साल पुराने भाषण सुनेंगे तो पता चलेगा कि इस विचारधारा ने बंगाल को कितना बर्बाद कर दिया था। पीएम किसान योजना के तहत प्रत्येक लाभार्थी किसान के बैंक खाते में हर चार महीने में 2,000 रुपये की किस्त के रूप में एक साल में कुल 6,000 रुपये सीधे डीबीटी के माध्यम से जमा किए जाते हैं। यह योजना एक दिसंबर, 2018 से लागू है हालांकि योजना की घोषणा तत्कालीन वित्तमंत्री पीयूष गोयल ने एक फरवरी 2019 को संसद में पेश अंतरिम बजट के दौरान की थी।


इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि योजना के 9.04 करोड़ किसानों के बैंक खाते में दो घंटे के भीतर 18,058 करोड़ रुपये पहुंच जाएंगे। उन्होंने बताया कि पीएम किसान योजना के तहत 11 करोड़ 4 लाख किसानों का पंजीयन किया जा चुका है और इस योजना के तहत इससे पहले देश के 10 करोड़ 59 लाख किसानों को 96,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की राशि सीधे उनके बैंक खाते में पहुंचाई गई है। पीएम किसान योजना का सालाना बजट लगभग 75,000 करोड़ रुपये है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।