Moneycontrol » समाचार » राजनीति

राज्य ये सुनिश्चित करें कि बिना मास्क पहने कोई ना निकले: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना को जितना रोक पाएंगे, उतनी हमारी अर्थव्यवस्था खुलती जाएगी। इससे रोजगार के नए साधन बनेंगे
अपडेटेड Jun 17, 2020 पर 09:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश को भले ही लॉकडाउन से हटाकर अनलॉक की ओर कदम बढ़ा दिए गए हों। लेकिन पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा देखा जा रहा है। ऐसे में पीएम मोदी ने आज से दो दिन केंद्र और राज्यों के बीच मीटिंग कर रहे हैं। आज उन राज्यों से मीटिंग हो रही है, जहां कोरोना केस कम हैं। कल उन राज्यों के साथ मीटिंग होगी, जहां कोरोना का संक्रमण सबसे ज्यादा है। 


पीएम मोदी आज छठी बार राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर रहे हैं। पीएम मोदी आज पंजाब, चंडीगढ़, उत्तराखंड, हिमाचल, लद्दाख,झारखंड, छत्तीसगढ़ ,गोवा, केरल, पुडुचेरी,असम, त्रिपुरा, मेघालय, अरुणाचल , मिजोरम, सिक्किम, मणिपुर, नागालैंड , अंडमान-निकोबार , दादर नगर हवेली और दमन दीव, लक्षद्वीप के सीएम और उपराज्यपाल से बातचीत कर रहे हैं।


पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिग में कहा कि आज भारत में कोरोना का रिकवरी रेट 50 फीसदी से ऊपर है। जनसंख्या के बावजूद कोरोना विनाशकारी नहीं है। आज भारत दुनिया के उन देशों में अग्रणी है, जहां कोरोना संक्रमित मरीज़ों का जीवन बच रहा है। कोरोना से एक मौत भी दुखी करने वाली होती है। अगर कोरोना के नियमों का पालन करते रहें तो नुकसान कम होगा। बिना मास्क कभी भी बाहर न निकलें। थोड़ी सी भी अगर हमने ढिलाई बरती तो हमारी पूरी तपस्या बेकार हो जाएगी। दूसरे देशों के मुकाबले हमारे यहां बेहतर हालात हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहें और बार बार हाथ धोते रहें। हमें इस बात पर ध्यान देना होगा कि कोरोना को जितना रोक पाएंगे, उतनी हमारी अर्थव्यवस्था खुलती जाएगी। इससे रोजगार के नए साधन बनेंगे।


ट्रेड और इंडस्ट्री अपनी पुरानी रफ्तार पकड़ सकें, इसके लिए वैल्यू चेन्स पर भी हमें मिलकर काम करना होगा। लगातार 3 महीने तक एक्पोर्ट में कमी के बाद जून में एक्सपोर्ट बढ़ गया है। MSMEs को सपोर्ट करने के लिए कई फैसले लिए गए हैं। साथ ही इन्हें बैंक से क्रेडिट देने के लिए प्रयास किया जा रहा है।
 
लोकल प्रोडक्ट के लिए जिस क्लस्टर बेस्ड रणनीति की घोषणा की गई है, उसका भी लाभ हर राज्य को होगा। इसके लिए ज़रूरी है कि हम हर ब्लॉक, हर जिले में ऐसे प्रॉडक्ट्स की पहचान करें, जिनकी प्रोसेसिंग या मार्केटिंग करके, एक बेहतर प्रॉडक्ट हम देश और दुनिया के बाज़ार में उतार सकते हैं।


पीएम मोदी ने आगे कहा कि किसानों के उत्पाद की मार्केटिंग के क्षेत्र में हाल में जो रिफॉर्म्स किए गए हैं, उससे भी किसानों को बहुत लाभ होगा। इस साल खाद की बिक्री पिछले साल के मुकाबले दोगुनी हुई है।


वही पीएम मोदी ने कहा कि दोपहिया वाहनों का प्रोडक्शन लॉकडाउन के पहले के स्तर के करीब 70 फीसदी तक पहुंच चुका है। रिटेल में डिजिटल पेमेंट लॉकडाउन से पहले की स्थिति में पहुंच गया है। मई में टोल कलेक्शन में भी बढ़ोतरी हुई है। इससे पता चलता है कि देश में आर्थिक गतिविधियां बढ़ रही हैं। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।