Moneycontrol » समाचार » राजनीति

मथुरा में पीएम: गाय का नाम सुनकर क्यों लोगों को करंट लगता है?

पीएम ने कहा, हमारी यह कोशिश होनी चाहिए कि 2 अक्टूबर तक अपने दफ्तरों, घरों और अपने आस-पास के वातावरण को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त कर लें
अपडेटेड Sep 12, 2019 पर 08:17  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पीएम नरेंद्र मोदी ने मथुरा वेटरिनरी यूनिवर्सिटी में एक बहुत बड़े कार्यक्रम की शुरुआत की। आजादी के बाद पहली बार इतने बड़े कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। इस कार्यक्रम में विभिन्न बीमारियों से बचाव के लिए पशुओं के टीकाकरण प्रोग्राम शुरू किया है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने स्वच्छता और सेवा अभियान भी शुरू किया। स्वच्छता के लिए सरकार की योजना है कि 2 अक्टूबर तक तक सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल पूरी तरह बंद करना है।


पीएम ने कहा, हमारी यह कोशिश होनी चाहिए कि 2 अक्टूबर तक अपने दफ्तरों, घरों और अपने आस-पास के वातावरण को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त कर लें। पीएम ने इसके लिए गांवों में काम कर रहे सेल्फ हेल्प ग्रुप, सामाजिक संगठनों, युवा मंडलों, महिला मंडलों, क्लब, स्कूल, कॉलेज और सभी संस्थानों से आह्वान किया है कि वे इस कार्यक्रम से जुड़ें।


वेटरिनरी कॉलेज के कार्यक्रम में मोदी ने विपक्ष पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ओम या गाय का नाम सुनते ही कुछ लोगों के कान खड़े हो जाते हैं। वहीं गाय का नाम सुनकर कुछ लोगों को करंट लगता है और उनके बाल खड़े हो जाते हैं। उन्हें लगता है कि देश 16वीं-17 वीं सदी में चला गया है. ऐसे लोगों ने ही देश को बर्बाद किया है।