Moneycontrol » समाचार » राजनीति

राहुल गांधी ने हार का ठीकरा, इन बड़े नेताओं पर फोड़ा

प्रकाशित Sun, 26, 2019 पर 13:00  |  स्रोत : Moneycontrol.com

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी ने कार्यसमिति की एक बैठक की। इस बैठक में कई बड़े नेता मौजूद रहे। हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे की पेशकश की, हालांकि कांग्रेस कार्यसमिति (वर्किंग कमेटी) ने इसे खारिज कर दिया। वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी काफी गुस्से में थे। उन्होंने कहा पार्टी के कई बड़े नेता पार्टी से ज्यादा पुत्र मोह में हैं। 


दरअसल ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि अब हमें स्थानीय स्तर पर मजबूत नेताओं की जरूरत है। इस सवाल के जबाव में राहुल गांधी कई बड़े नेताओं क आड़े हाथों लिया। राहुल ने कहा कि पार्टी के बड़े नेता पुत्र मोह में अधिक हैं। कमलनाथ, पी चिदंबरम, अशोक गहलोत का नाम लेते हुए कहा कि इन लोगों ने अपने बेटों को टिकट देने के लिए ज्यादा जोर लगाया। हालांकि वो टिकट देने के मूड में नहीं थे। उन्होंने ये भी कहा कि, चुनाव अभियान के दौरान बीजेपी और नरेंद्र मोदी के खिलाफ राय बनाने के लिए उठाए गए मुद्दों को नेता आगे नहीं ले गए।


 
सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी ने पार्टी के बड़े नेताओं पर ढील बरतने का का भी आरोप लगाया। राहुल ने खासतौर से राफेल डील और उसके लिए बनाए गए नारे चौकीदार चोर का जिक्र किया। राहुल ने कहा संगठन की जवाबदेही चाहते हैं।



राहुल ने पार्टी में जिम्मेदारी का भाव होने की बात कही। राहुल ने खुद को हार का जिम्मेदार मानते हुए कहा कि वह पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। इससे कमिटी में भावपूर्ण दृश्य नजर आने लगा।  सीनियर नेताओं ने कहा कि राहुल ने यह चुनाव आगे बढ़कर लड़ा है और उन्हें हिम्मत हारने की कोई जरूरत नहीं है।