Moneycontrol » समाचार » राजनीति

Rajasthan Political Crisis Updates: गहलोत सरकार को विधायकों का समर्थन, होटल में शिफ्ट हुए CM और MLA

सचिन पायलट ने दावा किया है कि उनके पास 30 विधायकों का समर्थन है, लिहाजा गहलोत सरकार अल्पमत में है
अपडेटेड Jul 14, 2020 पर 07:56  |  स्रोत : Moneycontrol.com

Rajasthan political crisis। राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार की मुश्किलें दूर होती नजर आ रही हैं। अब तक 102 विधायकों ने गहलोत को सपोर्ट किया है। इनमें 92 कांग्रेस विधायक हैं जबकि 10 निर्दलीय हैं। सचिन पायलट के बगावत करने की वजह से गहलोत की सरकार संकट में आ गई है। पिछले कुछ दिनों से यह अफवाह भी उड़ रही है कि सचिन पायलट BJP में शामिल हो सकते हैं। हालांकि उनके सहयोगियों का कहना है कि वह BJP में शामिल नहीं होंगे बल्कि अपनी एक अलग पार्टी "प्रगतिशील कांग्रेस" बना सकते हैं। इस बीच रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि सचिन पायलट परिवार के सदस्य हैं और उनके लिए कांग्रेस के दरवाजे खुले हैं। कांग्रेस एकबार फिर सचिन पायलट को मनाने की कोशिश करेगी। अब देखना है कि सचिन पायलट मानते हैं या अपने रास्ते अलग कर लेते हैं।


6. 30 PM

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के निवास पर आज सुबह हुई विधायक दलों की बैठक में 20 MLA शामिल नहीं हुए थे। राजस्थान कैबिनेट मिनिस्टर रमेश मीणा ने कहा कि "मैं सचिन पायलट के साथ हूं।"

4.55 PM

राहुल गांधी से कोई मुलाकात नहीं अभी तक सचिन पायलट से राहुल गांधी की कोई मुलाकात नहीं हुई है। सूत्रों के मुताबिक, पायलट ने कहा कि पार्टी अगले कुछ दिन इंतजार करेगी कि गहलोत के पास 107 विधायक हैं या नहीं। जबकि पायलट कैंप का कहना है कि उनके पास 20 से ज्यादा विधायक हैं।

4.30 PM

होटल पहुंचे गहलोत और विधायक राजस्थान कांग्रेस के सभी विधायक सुबह की बैठक के बाद होटल में शिफ्ट हो गए हैं। बसों में बैठने से पहले मंत्री ममता भूपेश ने कहा, All is well. कांग्रेस के सभी विधायक जयपुर के होटल फेयरमाउंट पहुंच गए हैं।


3.30 PM

राजस्थान के टूरिज्म मिनिस्टर विश्वेंद्र सिंह ने अपने ट्वीटर हैंडल पर चार फोटो का कोलाज पोस्ट किया है जिसमें राज्य के डिप्टी सीएम सचिन पायलट का संघर्ष दिख रहा है। 1.40 PM

सचिन पायलट का पोस्टर जयपुर के कांग्रेस ऑफिस में दोबारा लगा। इससे ऐसा लग रहा है कि मामला सुलझ गया है। रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि सचिन पायलट परिवार के सदस्य हैं और उनके लिए कांग्रेस के दरवाजे खुले हैं।

1.15 PM

 


राज्य सभा के सांसद विवेक तनखा ने कहा कि कुछ जीत का जश्न नहीं मनाना चाहिए।  


कुछ जीत ऐसी होती है जिसका जश्न नहीं मानते। राजस्थान कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने का विफल प्रयास एक ऐसी घटना।सचिन पाइलट अपने मतभेद या मनभेद परिवार के मुखिया के भरोसे छोड़े।अभी तो पूरी उम्र आगे है। भाजपा के हाथ मज़बूत करना बड़ी भूल होगी।कांग्रेस IT/ED की धमकी से विचलित नहीं होती


— Vivek Tankha (@VTankha) July 13, 2020

12.55 PM


राजस्थान के राजनीतिक संकट पर उमा भारती ने कहा कि राजस्थान में आज जो कुछ भी हो रहा और मध्य प्रदेश में जो कुछ भी हुआ, उसके लिए राहुल गांधी जिम्मेदार हैं। वह कांग्रेस में युवा नेताओं को उभरने का मौका नहीं देते हैं। उन्हें लगता है कि अगर ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट जैसे पढ़े लिखे नेता अगर आगे आएंगे तो राहुल गांधी पीछे छूट जाएंगे।


12.40 PM


राजस्थान के राजनीतिक संकट के बीच सूत्रों से पता चला है कि सीएम अशोक गहलोत के समर्थन में 102 विधायक हैं। इनमें से कांग्रेस के विधायकों की संख्या 92 है। बाकी 10 निर्दलीय विधायकों का सपोर्ट मिला है।


12.25 PM


राजस्थान के राजनीतिक संकट के बीच जयपुर कांग्रेस ऑफिस से सचिन पायलट का पोस्टर हटा दिया गया है।


12.20 PM


सूत्रों ने बताया है कि सचिन पायलट को कांग्रेस से बाहर निकाला जा सकता है। उन्होंने बताया कि गहलोत के समर्थकों ने राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नया नाम सुझाया है।


12.15 PM


कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि BJP ने सचिन पायलट को साफ कर दिया है कि वह उन्हें राजस्थान के सीएम का पद नहीं देंगे। पार्टी ने उन्हें कहा है कि वह ज्यादा से ज्यादा समर्थकों के साथ पार्टी से जुड़ें और आगे का फैसला आगे किया जाएगा।


12.10 PM


कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, "मैं कांग्रेस के विधायकों से निवेदन करता हूं कि जिन लोगों ने कांग्रेस को वोट दिया है वह राज्य में स्थायी सरकार चाहते हैं। इसलिए सभी विधायकों को मिलकर कांग्रेस को मजबूत बनाना चाहिए।" उन्होंने कहा कि हम इस मुश्किल से निकल जाएंगे। अगर किसी को अपने पद या प्रोफाइल से मुश्किल है तो उस मामले को पार्टी फोरम के सामने उठाया जाएगा।


12.03 PM


महाराष्ट्र के सांसद संजय राउत ने कहा कि राजस्थान में कोई संकट नहीं है। वहां की सरकार बनी रहेगी। गहलोत अनुभवी नेता हैं। ऐसे समय में सभी राज्य स्थायी सरकार चाहते हैं। BJP को इस वक्त राजनीति नहीं करनी चाहिए।


11.55 AM


कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को अब तक 102 विधायकों का सपोर्ट लेटर मिल चुका है। इस बीच पायलट के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी क्योंकि उन्होंने अभी तक पार्टी के खिलाफ कुछ नहीं किया है।


11.40 AM


थोड़ी देर पहले रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट करके कहा था कि BJP अब मैदान में उतर चुकी है। इनकम टैक्स के रेड शुरू हो गए हैं.. ED कब आएगी? तो अब जयपुर में ED ने एक फाइव स्टार होटल सहति कई जगहों पर छापा मारना शुरू कर दिया है। इसके मेन इनवेस्टर रतनकांत शर्मा हैं। BJP ने उनपर पहले यह आरोप लगाया था कि वह गहलोत के बेटे वैभव की मनी लॉन्ड्रिंग में मदद कर रहे हैं।


11.35 AM


राजस्थान के राजनीतिक संकट पर पीएल पुनिया ने सफाई दी है। छत्तीसगढ़ के AICC जनरल सेक्रेटरी इनचार्ज पुनिया ने ट्वीट करके सफाई दी है कि "सचिन पायलट अब BJP में हैं".. उनका मतलब पायलट की जगह सिंधिया से था।


11.20 AM

राजस्थान BJP प्रेसिडेंट सतीश पुनिया ने कहा, "राजस्थान के सीएम पद के लिए सचिन पायलट सही हकदार थे लेकिन अशोक गहलोत को सीएम बना दिया गया। इसके बाद से ही पार्टी में मतभेद शुरू हो गया। आज जो हो रहा है वह उसी मतभेद का नतीजा है।"


11.15 AM


सचिन पायलट के समर्थक कह रहे हैं कि डिप्टी सीएम के पास 30 विधायकों का समर्थन हैं और वह BJP से नहीं जुड़ने जा रहे हैं।


11.10 AM

छत्तीसगढ़ में AICC जनरल सेक्रेटरी इंचार्ड पीएन पुनिया ने कहा कि सचिन पायलट अब BJP में हैं। कांग्रेस को लेकर BJP के रवैया के बारे में सब जानते हैं। हमें BJP से कोई सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है। कांग्रेस में सभी नेता और कार्यकर्ता सम्मानीय हैं।

10.50 AM


ED कब आएगी?

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सीएम के नजदीकी विधायकों पर इनकम टैक्स के छापे के बाद कहा है कि अब BJP मैदान में आ ही गई। जयपुर में इनकम टैक्स का छापा. ED कब आएगी?


10. 45 AM

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने राज्य में कई जगहों पर छापा मारा

10.38 AM

 


गहलोत के आवास पर पहुंच रहे हैं पायलट समर्थक MLA


विधायक सुदर्शन सिंह रावत, प्रशांत बैरवा, दानिश अबरार, रोहित बोहरा बैठक के लिए सीएम निवास पर पहुंच गए हैं।


10.35 AM


राजस्थान के राजनीतिक संकट के दौरान सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के करीबी सहयोगियों के घर इनकम टैक्स का छापा पड़ा है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने धर्मेंद्र सिंह राठौर और राजीव अरोड़ा के घर छापा मारा है जो सीएम गहलोत के नजदीकी माने जाते हैं।


10.25 AM


सचिन पायलट के नजदीकी सूत्रों का कहना है कि डिप्टी सीएम अपनी एक अलग पार्टी बनाने का ऐलान कर सकते हैं। इस पार्टी का नाम "प्रगतिशील कांग्रेस" हो सकता है। विधायक दलों की बैठक के बाद सचिन पायलट अपनी पार्टी का ऐलान कर सकते हैं।


10.20 AM


कांग्रेस की विधायक दल की बैठक 10.30 बजे सीएम अशोक गहलोत के घर पर होने वाली है। इस मीटिंग के लिए व्हिप जारी किया गया है। हालांकि सचिन पायलट के समर्थकों का कहना है कि विधायक दल की मीटिंग के लिए व्हिप जारी नहीं किया जा सकता है। इसका कोई कानूनी आधार नहीं है। सचिन पायलट इस बैठक के बाद अपने फैसले का ऐलान कर सकते हैं।


 


राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि मैंने सचिन पायलट से बात करने की कोशिश की है। उन्हें मैसेज भी किया। कोई जवाब नहीं दिया। पार्टी से ऊपर कोई नहीं है। पार्टी उनकी बात सुनने को तैयार है लेकिन कोई अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।मुझे उम्मीद है कि वह बैठक के लिए आएंगे। 


09:50 AM

कांग्रेस विधायक महेंद्र चौधरी ने कहा कि ये कोई दूसरा प्रदेश नहीं है कि BJP किसी प्रकार के प्रयास कर सके। आज का दिन तय कर देगा। BJP को मात खानी पड़ेगी। BJP अपने विधायकों को संभाल कर रखे कहीं कांग्रेस के चक्कर में उनके खुद के विधायक उस पार्टी से न निकल जाएं।


रविवार रात में जब सीएम अशोक गहलोत ने मीटिंग बुलाई थी, तब सचिन पायलट ने मीटिंग में हिस्सा लेने से मना कर दिया था। उन्होंने दावा किया था कि उनके पास 30 विधायक हैं। लिहाजा गहलोत सरकार अल्पमत में है।  बता दें कि विधान सभा की कुल सीटें 200 हैं। जिसमें कांग्रेस के पास 107 विधायक हैं। BJP के पास 72 विधायक हैं। सरकार बनाने के लिए 101 सीटों की जरूरत पड़ेगी। अन्य में 21 सीटें हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।