Moneycontrol » समाचार » राजनीति

Ram Mandir Bhoomi Pujan: ये धर्मनिरपेक्षता की पराजय और हिंदुत्व की विजयः ओवैसी

ओवैसी ने कहा कि यह लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता की पराजय और हिंदुत्व (Hindutva) की सफलता का दिन है।
अपडेटेड Aug 05, 2020 पर 19:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

राम मंदिर भूमि पूजन (Ram Mandir Bhoomi Pujan) पर जहां पूरा देश और विश्व भर में रह रहे भारतीयों में जबर्दस्त खुशी और उल्लास है वहीं एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (AIMIM chief Asaduddin Owaisi) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) द्वारा भूमिपूजन किया जाना रास नहीं आया है। उन्होंने पीएम पर निशाना साधा है और कहा कि भारत (India) एक धर्मनिरपेक्ष देश है। प्रधानमंत्री ने राम मंदिर का शिलान्यास कर पद की शपथ का उल्लंघन किया है। ओवैसी ने कहा कि यह लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता की पराजय और हिंदुत्व (Hindutva) की सफलता का दिन है।


आज सुबह ओवैसी ने ट्वीट करके कहा था, बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) थी, है और रहेगी इंशाल्लाह, बाबरी ज़िंदा है। ये हैशटैग ट्विटर पर ट्रेंड हो गया है। ओवैसी ने कहा, प्रधानमंत्री ने आज कहा कि वह भावुक थे। मैं कहना चाहता हूं कि मैं भी उतना ही भावुक हूं, क्योंकि मैं समान-अस्तित्व और नागरिकता की बराबरी में भरोसा करता हूं। श्रीमान प्रधानमंत्री, मैं भावुक हूं, क्योंकि एक मस्जिद 450 वर्षों से वहां खड़ी थी।


असदुद्दीन ओवैसी ने आज राम मंदिर का भूमिपूजन करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला किया और कहा कि धर्मनिरपेक्षता भारतीय संविधान का अभिन्न अंग है और प्रधानमंत्री ने राम मंदिर के भूमिपूजन में शामिल होकर संविधान का अनादर किया है।


AIMIM के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा कि बाबरी मस्जिद को ढहाने के लिए कांग्रेस समान रूप से जिम्मेदार है। ऐसी धर्मनिरपेक्ष पार्टियों का पूरी तरह से पर्दाफाश हो चुका है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।