Moneycontrol » समाचार » राजनीति

राइजिंग इंडियाः भारत की नई छवि बनाने में मोदी कितने सफल!

प्रकाशित Wed, 14, 2018 पर 17:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नेटवर्क-18 मार्च 16 और 17 को सीएनएन न्यूज 18 राइज़िंग इंडिया समिट का पहला एडिशन शुरू कर रहा है। गैबॉन इस समिट का कंट्री पार्टनर है और ग्रोथ मिशन पर है। लेकिन सबसे पहले बात करेंगे अपने देश भारत की। बीते कुछ साल में दुनिया भर में भारत की एक नई और मजबूत देश की पहचान पुख्ता हुई है। कभी सोने की चिड़िया कहां जानेवाला हिंदुस्तान की तस्वीर अब गरीबी और भूख से बिलबिलाते मुल्क की नहीं रही है। आज का भारत सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था है, आज के भारत को दुनिया उम्मीद भरी नजरों से देखती है। आज के भारत के नागरिकों को दुनिया भर में सम्मान की नजर से देखा जाता है। यहां के नेताओं को दुनिया सम्मान देती है। आज के भारत के नेताओं को देखने और सुनने के लिए जनता दुनिया के किसी भी कोने में सड़को पर उमड़ पड़ती है। ये बदले भारत की एक झलक है।


अमेरिका, इंग्लैड, फ्रांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया से लेकर तमाम बड़े मुल्क इस भारत से बेहतर रिश्ते चाहते है। इजरायल और फिरिस्तीन जो एक दूसरे के प्रतिदव्दी है। वो दोनों मुल्क भारत के साथ अपने तमाम मतभेद भूलाकर एक साथ रिश्ते रखना चाहते है। रूस को भारत अमेरिका के बढ़ती नजदीकियों से शिकायत नहीं है। अफ्रीकी मुल्कों को भारत में बड़ा भाई नजर आता है। सउदी अरब, अफगानिस्तान और जॉडन जैसे मुल्क भारत को अपने सबसे करीब पाते है। तमाम हितों के ठकराव के बावजूद चीन जैसा देश भारत को अब दुश्मन की तरह नहीं देखता है।


आंतकवाद को पालनेवाला पाकिस्तान अगर दुनिया में अलग-थलग पड़ रहा है, तो उसके पीछे भारत की कूटनीति की सफलता ही है और इन सभी का श्रेय वर्तमान सरकार और उसके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहुत हद तक जाता है। सत्ता में आते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया के मुल्कों से बेहतर रिश्ते बनाने और भारत की बदली छवि को ब्रांड के तरह पेश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। ज्यादातर जानकार अब भारत में दुनिया भर में छाने का माददा देख रहे है, लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी विदेश जाते है। वे भी अपनी बात विदेशों में रखते है और भारत के अंदर जो कुछ घट रहा है उसकी तस्वीर उसका आईना इस सरकार को जाकर जरुर दिखाते है। कुछ लोग इसे ये कहते कि राहुल गांधी विदेश जाकर भारत की आलोचना कर रहे है।


आज राइजिंग इंडिया में दुनिया के दमदार भारत के धमक पर बड़ी चर्चा करेंगे और यहीं सवाल उठा रहा है क्या राहुल गांधी का विदेशी की धरती पर देश की आलोचना करना सही है? क्या भारत की बदली छवि का श्रेय प्रधानमंत्री मोदी को दिया जाना चाहिए? क्या भारत दुनिया का नेतृत्व करने का दम रखता है?