Moneycontrol » समाचार » राजनीति

SC के फैसले को चुनौती दी जा सकती है: ओवैसी

अयोध्या फैसला आने के बाद AIMIM के असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि वे अयोध्या पर फैसले से सहमत नहीं हैं।
अपडेटेड Nov 11, 2019 पर 09:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

देश के सबसे चर्चित अयोध्या फैसला आने के बाद AIMIM के असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि वे अयोध्या पर फैसले से सहमत नहीं हैं। उनका कहना है कि SC के फैसले को चुनौती दी जा सकती है।


ओवैसी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सुप्रीम जरूर है, लेकिन इनफिलेबल यानी अचूक नहीं है। ओवैसी ने कहा कि मेरा सवाल है कि यदि 6 दिसंबर 1992 को मस्जिद न ढहाई जाती तो क्या सुप्रीम कोर्ट का यही फैसला होता।


उन्होंने कहा कि हम अपने कानूनी हक के लिए लड़ रहे थे। हम मस्जिद के लिए हम जमीन खरीद सकते हैं और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन की खैरात नहीं लेनी चाहिए। मुस्लिम पक्ष की लड़ाई कानूनी हक की लड़ाई थी।


बता दें कि देश के सबसे चर्चित अयोध्या मुकदमें में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है। सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन रामलला विराजमान को देने का फैसला सुनाया है। इस फैसले से असहमति जताते हुए ओवैसी ने कहा कि यह तथ्यों पर आस्था की जीत है जबकि सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आस्था और विश्वास के आधार पर फैसला नहीं होगा और सिर्फ आस्था पर जमीन के मालिकाना हक का फैसला नहीं किया जा सकता है।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।