Moneycontrol » समाचार » राजनीति

नीतीश कुमार को एक और झटका, अरुणाचल प्रदेश में JDU के 7 में से 6 विधायक BJP में शामिल

प्रदेश में JDU के 7 विधायक थे जिनमे से 6 विधायक BJP में शामिल हो गए हैं
अपडेटेड Dec 26, 2020 पर 13:00  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बिहार में JDU और BJP  सियासी साथी बने हुए है तो दूसरी तरफ BJP ने अरुणाचल प्रदेश(Arunachal Pradesh) में JDU को बड़ा झटका दिया है। अरुणाचल प्रदेश में JDU के 7 में से 6 विधायकों ने सत्ताधारी BJP का दामन थाम लिया। राज्य विधानसभा की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल के एक विधायक करदो निग्योर ने भी BJP का दामन थाम लिया है। करदो निग्योर राज्य के लिकाबाली क्षेत्र से विधायक हैं।


राज्य में यह बड़ा सियासी बदलाव उस समय हुआ है जब एक दिन बाद पंचायत और नगरपालिका के चुनावी रिजल्ट आने वाले हैं। जिन विधायकों ने JDU को छोड़कर BJP का दामन थामा है उनमें रमगोंग विधानसभा क्षेत्र से विधायक तालीम तबोह,विधायक हेयेंग मंग्फी,ताली से विधायक जिकके ताको, विधायक दोरजी वांग्दी खर्मा,विधायक सियनग्जू औऱ मारियांग क्षेत्र से विधायक कांगगोंग टाकू का नाम शामिल हैं।
 
26 नवंबर को ही JDU ने अपने कुछ विधायकों को कारण बताओं नोटिस जारी किया था। पार्टी ने टाकू, खर्मा और सियनग्जु को नोटिस जारी किया था। उसके बाद पार्टी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप में इन विधायकों को पार्टी से निकाल दिया था।
इस पूरे मामले में BJP के राज्य अध्यक्ष ने कहा है कि हमने उन विधायकों को पार्टी में शामिल कर लिया है।


विधानसभा में JDU ने किया था शानदार प्रदर्शन


2019 में हुए विधानसभा चुनावों में JDU ने राज्य में शानदार प्रदर्शन किया था। पार्टी 15 सीटों पर चुनाव लड़ी थी जिसमें से पार्टी को 7 सीटों पर जीत मिली थी। पार्टी राज्य में दूसरी नंबर की सबसे बड़ी पार्टी बनकर ऊभरी थी। BJP को चुनावों में 41 सीटें मिली थी।
बिहार में हैं सियासी दोस्त


JDU और BJP बिहार में सियासी दोस्त हैं। विधानसभा चुनावों में BJP ने JDU से ज्यादा सीटे प्राप्त की थी। इससे पहले के चुनावों में JDU को ज्यादा सीटे मिलती थी लेकिन पहली बार राज्य में बीजेपी को ज्यादा सीटे मिली हैं लेकिन बिहार की मुख्यमंत्री की कुर्सी पर पर बीजेपी ने JDU को ही बैठाया था और नीतिश कुमार राज्य के मुख्यमंत्री बने थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।