Moneycontrol » समाचार » राजनीति

बिहार के 3.5 लाख कॉन्ट्रैक्ट टीचर्स को सुप्रीम कोर्ट का झटका

प्रकाशित Fri, 10, 2019 पर 12:53  |  स्रोत : Moneycontrol.com

समान काम समान वेतन की मांग करने वाले बिहार के कॉन्ट्रैक्ट टीचर्स की लड़ाई अदालत की चौखट पर पिछले 10 साल से चल रही थी, आज सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले को निरस्त कर दिया है।



दरअसल बिहार में कॉन्ट्रैक्ट टीचर्स पिछले दस साल से समान काम समान वेतन की मांग कर रहे थे । जिस पर बिहार सरकार का कहना है कि ये टीचर्स पंचायती राज निकायों के टीचर हैं। बिहार सरकार के कर्मचारी नहीं है। ऐसे में इन्हें सरकारी टीचर्स के बराबर सैलरी नहीं दी जा सकती।



इस मामले को लेकर पटना हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। जिस पर पटना हाईकोर्ट ने कॉन्ट्रैक्ट टीचर्स के हक में फैसला सुनाते हुए सरकार को सैलरी देने का आदेश दिया। ऐसे में बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का रूख किया। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में 11 याचिकाओं पर सुनवाई की। जिसके बाद कोर्ट ने 3 अक्टूबर 2018 को फैसला सुरक्षित रख लिया था। इस फैसले का कॉन्ट्रैक्ट टीचर्स बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले को रद्द कर दिया। इस फैसले का असर 3.5 लाख कॉन्टैक्ट टीचर्स पड़ा है।