Moneycontrol » समाचार » राजनीति

टक्कर: नई नौकरियों पर सियासी तकरार!

प्रकाशित Tue, 03, 2018 पर 08:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर डिबेट शो टक्कर में सोमवार से शुक्रवार रात 09:00 बजे आपसे जुड़े हुए मुद्दे उठाए जाते हैं और सरकार से पूछे जाते हैं तीखे सवाल। टीवी पर बहस तो बहुत होती रहती हैं लेकिन वहां तू-तू, मैं-मैं के बीच आपके मुद्दे दब जाते हैं और आपके हक की आवाज़ गुम हो जाती है। इसलिए टक्कर में उन चेहरों से सीधे सवाल किए जाते हैं जिनकी आपके प्रति सीधी जवाबदेही बनती है। टक्कर महज एक शो नहीं है ये 130 करोड़ भारतीयों की एक बड़ी मुहिम है।


टक्कर में यहां बात हो रही है देश में रोजगार सृजन और उस पर हो रही सियासत की। रोजगार के मुद्दे पर पीएम मोदी ने अपने विरोधियों को जवाब दिया। पीएम ने कहा कि देश में नौकरियों की कमी नहीं है। पीएम ने ईपीएफओ के आंकड़े के हवाले से बताया कि सितंबर 2017 से अप्रैल 2018 के बीच फॉर्मल सेक्टर में 41 लाख नौकरियां पैदा हुई हैं। जबकि पिछले साल ये आंकड़ा 70 लाख नौकरियों का था। पीएम ने कर्नाटक और पश्चिम बंगाल सरकार की तरफ से दी गई नौकरियां का उदाहण देते हुए कहा कि अगर किसी राज्य में नौकरियां पैदा हुई है तो वो भी तो उनके कार्यकाल की है। ऐसे में उन नौकरियों को अलग नहीं देखना चाहिए। पीएम ने ये बातें स्वराज्य नाम की एक मैग्जीन को दिए इंटरव्यू में कहीं।


देश में आज नौकरी की कोई कमी नहीं है अगर कमी है तो नौकरी का आंकड़ा देने वालों की। सितंबर 2017 से अप्रैल 2018 के बीच फॉर्मल सेक्टर में 41 लाख नौकरियां पैदा हुई हैं। जबकि पिछले साल ये आंकड़ा 70 लाख नौकरियों का था। अगर किसी राज्य में नौकरियां पैदा हुई है तो वह भी तो उनके कार्यकाल की है। ऐसे में उन नौकरियों को अलग कैसे देखा जा सकता है।


नौकरी के आंकड़े देने के बाद पीएम मोदी विरोधियों के निशाने पर आ गए हैं। कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने कहा कि मोदी जी घबराए हुए हैं, इसलिए ऐसी बातें बोल रहे हैं। 400 रैलियों में 2 करोड़ नौकरियों का झूठ बोला अब आपके जुमले आपको काट रहे हैं।