Moneycontrol » समाचार » राजनीति

टक्कर: विपक्ष का हाहाकार, तेल पर फंसी सरकार!

प्रकाशित Tue, 11, 2018 पर 08:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर डिबेट शो टक्कर में सोमवार से शुक्रवार रात 09:00 बजे आपसे जुड़े हुए मुद्दे उठाए जाते हैं और सरकार से पूछे जाते हैं तीखे सवाल। टीवी पर बहस तो बहुत होती रहती हैं लेकिन वहां तू-तू, मैं-मैं के बीच आपके मुद्दे दब जाते हैं और आपके हक की आवाज़ गुम हो जाती है। इसलिए टक्कर में उन चेहरों से सीधे सवाल किए जाते हैं जिनकी आपके प्रति सीधी जवाबदेही बनती है। टक्कर महज एक शो नहीं है ये 130 करोड़ भारतीयों की एक बड़ी मुहिम है।


टक्कर में आज बात हो रही है पेट्रोल-डीजल की बढ़ रही कीमतों के नाम पर देश में एक बार फिर गर्म हो रही सियासत की। पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों पर कल पूरा देश थम सा गया। कहने को ये कांग्रेस के नेतृत्व वाला बंद था लेकिन जिस तरह से आज देश में दुकाने और कारोबार बंद थी लगता है महंगे पेट्रोल डीजल पर जनता भी अपना गुस्सा दिखा रही है। हालांकि देशभर में विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहा है लेकिन कुछ कुछ इलाकों में तोड़फोड़ और आगजनी हुई है। बिहार में बंद के दौरान कुछ कुछ जगहों में तोड़फोड़ और आगजनी हुई है। बिहार के जहानाबाद में बंद के दौरान जाम में फंसने से 2 साल की बीमार बच्ची की मौत हो गई है। राजस्थान में भी बंद का काफी असर दिखा है। सभी दुकानें बंद रही। इसके अलावा केरल, तेलंगाना, महाराष्ट्र से लेकर नॉर्थ ईस्ट तक बंद का असर देखने को मिला। कई जगहों पर विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी भी हुई।


मुंबई में कांग्रेस नेताओं ने ट्रेन रोकने की कोशिश की। संजय निरूपम सहित कई नेता पटरी पर बैठ गए। पुलिस से तीखी झड़प भी हुई। जिसके बाद अशोक चव्हाण, संजय निरुपम समेत कई नेताओं को हिरासत में लिया गया। दिल्ली में कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव ने भी प्रदर्शन किया। कोच्चि में कांग्रेस नेताओं ने बैलगाड़ी पर मार्च निकालकर महंगे पेट्रोल डीजल का विरोध किया। हालांकि भारत बंद के दौरान कर्ई शहरों में हिंसा भी हुई। जम्मू में लोगों ने टायर जलाकर प्रदर्शन किया तो पटना और उज्जैन में प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ की। पटना में लोगों नें गाड़ियों के शीशे तोड़े तो उज्जैन में पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ की गई।


उधर राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार पर हमला बोला और कहा कि मोदी सरकार जनता की गाढ़ी कमाई लूट रही है। आज राहुल गांधी ने राजघाट पर कैलाश मानसरोवर का जल अर्पित कर महात्मा गांधी को श्रदांजलि दी और उसके बाद दिल्ली के रामलीला मैदान पर धरने में शामिल हुए। इधर बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने अपनी ही सरकार पर हमला बोलते हुए पेट्रोल के दाम 40 रुपये से ज्यादा नहीं होने की बात कही। वहीं, समाजवादी पार्टी के नेता और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है सरकार घमंडी हो चुकी है। तेल के दाम बढ़ने पर भारत बंद है लेकिन आज फिर इन्होंने दाम बढ़ा दिए।


उधर बिहार के जहानाबाद में बंद की वजह से एक बीमार लड़की की जान चली गई। बीमार लड़की को उनके घर वाले इलाज के लिए ले जा रहे थे लेकिन बंद और ट्रैफिक रुकने की वजह से गाड़ी जाम में फंस गई। लड़की के परिवार वालों का कहना है कि अगर उन्हें रास्ता दिया गया होता तो लड़की की जान नहीं जाती। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी इस बच्ची की मौत पर विपक्ष से सवाल पूछा है।


हालांकि कल से राजस्थान में पेट्रोल और डीजल 2.5 रुपये सस्ता मिलेगा। यहां वसुंधरा सरकार ने तेल पर 4 फीसदी वैट कम कर दिया है। जनता को राहत देने के लिए पंजाब, कर्नाटक और हिमाचल प्रदेश की सरकारों ने भी अपने-अपने यहां पेट्रोल-डीजल सस्‍ता करने की घोषणा की है। आंध्र प्रदेश में भी चंद्रबाबू नायडू ने जनता को राहत देने की घोषणा की है, पेट्रोल और डीजल 2 रुपये सस्ता मिलेगा।


तेल की महंगाई पर सरकार के रुख की बात करें तो भारत बंद के बावजूद सरकार अडिग है। सरकार एक्साइज ड्यूटी कटौती के पक्ष में नहीं है क्योंकि सरकार को ड्यूटी घटाने से उल्टा असर पड़ने का खतरा लग रहा है। ऐसा करने पर विकास पर होने वाला खर्च घटाना पड़ेगा। राज्यों में वैट घटाने की गुंजाइश भी कम है। राज्यों की वित्तीय हालत वैट घटाने लायक नहीं है। पेट्रोल और डीजल के दाम जीएसटी के तहत लाने से भी इसके दाम पर बहुत फर्क नहीं पड़ेगा। सरकार का मानना है कि लॉन्ग टर्म में टैक्स वसूली बढ़ाना ही इसका सही उपाय है।