Moneycontrol » समाचार » राजनीति

टीएमसी को 42 में से 42 सीटें मिलेंगीः ममता बनर्जी

प्रकाशित Fri, 19, 2019 पर 13:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का दावा है कि इस बार दिल्ली की सरकार का फैसला पश्चिम बंगाल और यूपी से होगा। नेटवर्क 18 के ग्रुप एडिटर इन चीफ राहुल जोशी के साथ एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में ममता बनर्जी ने दावा किया कि चुनाव बाद तस्वीर बदल सकती है और बीजेपी को कई राज्यों में बड़ा झटका लग सकता है।


ममता बनर्जी ने दावा किया कि चुनाव के बाद कोई नया गठबंधन तैयार हो सकता है। न्यूज 18 से एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि यूपीए और एनडीए से अलग ये गठबंधन हो सकता है। कांग्रेस की न्याय स्कीम को लेकर ग्रुप एडिटर इन चीफ राहुल जोशी के सवाल पर ममता ने कहा कि जब कांग्रेस अकेले सरकार बनाने नहीं जा रही है तो न्याय स्कीम को अमलीजामा पहनाने का सवाल ही नहीं उठता।


ममता बनर्जी ने ये भी बताया कि भले ही चुनाव को लेकर बीजेपी बड़े बड़े दावे कर रही हो लेकिन बंगाल में बीजेपी की दाल गलने वाली नहीं है। उन्होंने दावा किया कि बंगाल में जो 2 सीटें हैं बीजेपी की वो भी खत्म हो जाएगी। ममता बनर्जी ने राहुल जोशी से कई बातें कहीं। उन्होंने बताया कैसे वो मुख्यमंत्री के तौर पर सैलरी नहीं लेती और किताब और म्यूजिक की रॉयल्टी से अपना खर्च चलाती है। साथ ही ममता ने ये भी बताया कि आखिर उनको गुस्सा क्यों आता है। जवाब में ममता ने कहा कि गुस्सा उसी को आता है जो सच बोलता है। जनता के साथ अत्याचार होता है तो उन्हें गुस्सा आता है।


ममता ने बड़ी बेबाकी से अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि अबकी बार टीएमसी को को 42 में से 42 सीटें मिलेंगी और बीजेपी बंगाल से पूरी तरह खत्म हो जाएगी। 2009 से बीजेपी का वोट शेयर काफी बढ़ा है। फिर भी ममता का कहना है कि बंगाल में टीएमसी नंबर वन की पार्टी है। दूसरे नंबर पर कौन रहेगा यह कहना मुश्किल है। बीजेपी, कांग्रेस, सीपीएम में कौन होगा यह कहना मुश्किल है। वहीं सीपीएम, कांग्रेस के नेता बीजेपी में गए हैं इसलिए बीजेपी का वोट शेयर पहले से ज्यादा बढ़ा है।


ममता बनर्जी के साथ गठबंधन का गणित कैसा होगा इस पर ममता का मानना है कि इस बार यूपी-बंगाल से दिल्ली का रास्ता निकलेगा। यूपीए और एनडीए से अलग चुनाव बाद नया गठबंधन बनेगा। साथ ही ममता को मिलीजुली सरकार पर पूरा भरोसा भी है।