Moneycontrol » समाचार » राजनीति

भारत के लिहाज से ट्रंप की यात्रा कामयाब, ट्रेड डील पर अमेरिका की मांगें मानेगा भारत!

भारत ने मेजबानी से उनका दिल जीत लिया और इससे वो इतने अभिभूत दिखे कि इस देश की महानता और मोदी से अपनी मित्रता का उन्होंने बार बार जिक्र किया।
अपडेटेड Feb 26, 2020 पर 15:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

डॉनल्ड ट्रंप के डेढ़ दिन की भारत यात्रा के दौरान दोनों देशों ने जितने मुद्दों पर बातचीत की, जिन फैसलों को अंतिम रूप दिया, उस लिहाज से देखें तो अमेरिकी राष्ट्रपति की यात्रा को सफल माना जा सकता है। अगर ये कुछ लोगों को कम लग रहा हो तो उन्हें दोनों नेताओं ट्रंप और मोदी के बीच जो केमिस्ट्री बनी है उससे तसल्ली करनी चाहिए कि आगे जाकर इसकी बदौलत और अच्छे रिश्ते बनेंगे। तारीफ और आलोचना करने में ट्रंप ज्यादा आगा पीछा नहीं सोचते। भारत ने मेजबानी से उनका दिल जीत लिया और इससे वो इतने अभिभूत दिखे कि इस देश की महानता और मोदी से अपनी मित्रता का उन्होंने बार बार जिक्र किया। लेकिन ट्रंप नेता बनने से पहले एक कामयाब बिजनेसमैन भी रहे हैं। इसलिए उन्होंने अमेरिका और अपने राजनीतिक हितों का भी पूरा ख्याल रखा। ट्रेड डील पर बातचीत अभी चलेगी। कई फंसे हुए मुद्दे हैं जिनपर दोनों देशों में सहमति बननी है। पूरा फोकस इस पर है कि कोई ज्यादा अपने देश के हितों से समझौता करता ना दिखे।
 
अमेरिका राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा कि PM मोदी के साथ दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापारिक संबंध बढ़ाने पर बातचीत हुई। हमारी टीमों ने ट्रेड डील के लिए बात आगे बढ़ाई है। मुझे उम्मीद है कि हम ये डील करेंगे और ये दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण होगी।


उन्होंने कहा PM मोदी और मैंने अपने देश के लोगों को कट्टर इस्लामिक आतंकवाद से बचाने के लिए कटिबद्धता जताई। अमेरिका ने पाकिस्तान से उसकी धरती पर पनप रहे आतंकवादियों पर कार्रवाई करने के लिए भी कहा है। हमने भारत के साथ $300 करोड़ का रक्षा सौदा किया है जिसमें अपाचे और MH-60 Romeo हेलिकॉप्टर शामिल हैं, जो कि दुनिया में सबसे बेहतरीन हैं। इस सौदे से दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग बढ़ेगा।


वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अमेरिका और भारत के संबंध सिर्फ दो सरकारों के बीच नहीं हैं बल्कि people driven हैं, people centric हैं। ये संबंध 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण पार्टनरशिप में हैं। इसलिए आज ट्रंप और मैंने हमारे संबंधों को COMPREHENSIVE GLOBAL STRATEGIC PARTNERSHIP के स्तर पर ले जाने का फैसला लिया है।


पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत और अमेरिका के बीच बढ़ता रक्षा और सुरक्षा सहयोगहमारी स्ट्रैटेजिक पार्टनरपशिप का एक अहम हिस्सा है। अत्याधुनिक रक्षा उपकरण व प्लेटफॉर्म पर सहयोग से भारत की डिफेंस क्षमता में बढ़ोतरी हुई है। हमारे डिफेंस मैन्युफैक्चरर्स एक दूसरे की सप्लाई चेन का हिस्सा बन रहे हैं। भारतीय फोर्स आज सबसे ज्यादा ट्रेनिंग अभ्यास अमेरिका की सेना के साथ कर रही हैं। होमलैंड सिक्योरिटी पर हुए फैसले से इस सहयोग को और बल मिलेगा। आतंक के समर्थकों को जिम्मेदार ठहराने के लिए आज हमने अपने प्रयासों को और बढ़ाने का निश्चय किया है।


जहां तक द्विपक्षीय व्यापार का सवाल है, हमारे कॉमर्स मिनिस्टर्स के बीच सकारात्मक वार्ताएं हुई हैं। राष्ट्रपति ट्रंप और मैं आज सहमत हुए हैं कि हमारे कॉमर्स मिनिस्टर्स के बीच जो understanding बनी है उसे हमारी टीमें लीगल रूप दें। हम एक बड़ी ट्रेड डील के लिए negotiations शुरू करने पर भी सहमत हुए हैं। हमें आशा है कि आपसी हित में इसके अच्छे परिणाम निकलेंगे।


अमेरिका राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा कि हमने धार्मिक आजादी पर बात की। PM मोदी लोगों की धार्मिक आजादी चाहते हैं। उन्होंने धार्मिक आजादी के लिए काफी काम किया है। मैंने किसी व्यक्तिगत हमले के बारे में उनसे बात नहीं की लेकिन ये भारत के ऊपर है। हमने आतंकवाद के मुद्दे पर विस्तार से चर्चा की। हमारे पास कुछ अच्छे आइडिया हैं। वो आतंकवाद के सख्त खिलाफ हैं। PM मोदी एक धार्मिक, शांत लेकिन सख्त इंसान हैं। मैंने उन्हें एक्शन में देखा है। वो आतंकवाद के मसले को देख लेंगे।
 
उन्होंने कहा कि मुझसे जो मदद हो सकती है मैं करूंगा। मेरा दोनों सज्जनों के साथ अच्छे संबंध हैं। लेकिन पाकिस्तान में हालात ठीक नहीं हैं। हम देखते हैं कि क्या कर सकते हैं। मध्यस्थता करनी हो या कुछ और मैं मदद करने के लिए तैयार हूं। कश्मीर पर दोनों पक्षों की अपनी अपनी कहानी है। वो जानते हैं क्या दिक्कतें हैं, मैं जानता हूं क्या दिक्कतें हैं। हमसे भारी भरकम टैरिफ वसूले जाते हैं। लेकिन हम कर सकते हैं। इसलिए मैं यहां हूं। वो हमसे डील करेंगे। इसमें बहुत पैसा शामिल है। लेकिन भारत को अमेरिका को अच्छे से तवज्जो देनी होगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।