Moneycontrol » समाचार » राजनीति

राहुल गांधी के आरोप पर नकवी का पलटवार, पप्पू का घोंसला और परिवार का चोंचला बन गई है कांग्रेस

राहुल गांधी ने LAC तनाव पर जानकारी छिपाने के लिए मोदी सरकार पर फिर हमला बोला है।
अपडेटेड Jul 05, 2020 पर 13:35  |  स्रोत : Moneycontrol.com

राहुल गांधी ने LAC तनाव पर जानकारी छिपाने के लिए मोदी सरकार पर फिर हमला बोला है। राहुल गांधी ने आज एक वीडियो जारी कर ट्वीट किया कि देशभक्त लद्दाखी चीनी घुसपैठ के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं वे चिल्ला-चिल्ला कर आगाह कर रहे हैं। उनकी चेतावनी को नजरअंदाज करना भारत को महंगा पड़ेगा। भारत की खातिर, कृपया उन्हें सुनें।


इससे पहले भी एक वीडियो के साथ राहुल ने लिखा था कि लद्दाखी कह रहे हैं कि चीन ने हमारी जमीन कब्जाई है। प्रधानमंत्री कहते हैं किसी ने हमारी जमीन नहीं ली। साफ सी बात है कि कोई तो झूठ बोल रहा है। बता दें कि हाल ही में गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि चीन ने हमारी किसी जगह पर कब्जा नहीं किया है।


उधर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने राहुल गांधी के ट्वीट का करार जबाव दिया। मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस पर दुश्मनों को समर्थन देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जब देश का सुरक्षा बल दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दे रहा हो। उस वक्त कांग्रेस दुश्मनों को ऑक्सीजन देने वाली हरकतें कर रही हैं। आज कांग्रेस पप्पू का घोंसला और परिवार का चोंचला बनकर रह गई है।


उधर कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लेह पहुंचकर सैनिकों के बीच से चीन की विस्तारवादी नीति को चुनौती दी थी। प्रधानमंत्री ने कहा विस्तारवादी ताकतें विश्व शांति के लिए खतरा पैदा करती हैं, लेकिन इतिहास गवाह है कि या तो वो मिट जाते हैं या मुड़ने को विवश होते हैं। प्रधानमंत्री ने शांति के प्रति भारत की प्रतिबद्धता दोहराई, लेकिन साथ ही कहा कि सैन्य ताकत शांति की पहली शर्त होती है। आज भारत धरती, जल, आकाश से लेकर अंतरिक्ष तक शक्तिशाली है और ये ताकत विश्व मानवता के कल्याण के लिए है। प्रधानमंत्री गीता का उद्धरण देकर कहा कि धरती वीरों के लिए होती है और देश का सैनिक वीर है। जरूरत पड़ी तो श्रीकृष्ण का सुदर्शन चक्र भी चलता है। प्रधानमंत्री ने गलवान के शहीदों के श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनकी वीरता से धरती अब तक डोल रही है।


गौरतलब है कि लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर पिछले कई हफ्तों से गतिरोध चल रहा है। गत 15-16 जून की रात दोनों देशों के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। इस झड़प में चीनी पक्ष को भी नुकसान होने की खबरें हैं।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।