Moneycontrol » समाचार » राजनीति

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पीएम मोदी ने अपने भाषण में क्या कहा! जरूर जानें

स्वतंत्रा दिवस के अवसर पर पीएम मोदी ने कहा कि, हम न समस्याओं का पालते हैं और न ही टालते हैं।
अपडेटेड Aug 16, 2019 पर 08:35  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पूरा देश आजादी के जश्न में डूबा हुआ है। 73वें स्वतंत्रता दिवस के इस पावन बेला पर देशवासी गर्व महसूस कर रहे हैं। देशवासी उन वीर जवानों को याद कर रहे हैं, जिन्होंने अपने प्राणों को भारत माता की गोदी मे न्योछावर कर दिया। लाल किले पर तिरंगा फहराने के बाद पीएम मोदी ने देशवासियों संबोधित करते हुए रक्षाबंधन की बधाई दी और देश के कुछ राज्यों में आई बाढ़ से मची तबाही पर बाढ़ पीड़ितों के प्रति संवेदना व्यक्त की। साथ ही राहत एवं बचाव कार्य में जुटी टीम की प्रशंसा करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया।




तीन तलाक



पीएम मोदी ने अपने भाषण में देश वासियों के सामने एक तरीके से अपनी रिपोर्ट कार्ड पेश की । उन्होंने अपने दूसरे कार्यकाल की उपलब्धियों को बताया। पीएम मोदी ने कहा कि नई सरकार ने 10 हफ्ते के भीतर कई बड़े फैसले लिए हैं। उन्होंने कहा कि मुस्लिम बहनों के सम्मान और अधिकार के लिए कानून बनाया। अनुच्छेद 370 और 35Aको खत्म किया। पीएम मोदी ने कहा कि तीन तलाक को कई इस्लामिक देशों ने खत्म कर दिया है। अगर हम भूण हत्या, सती प्रथा, दहेज को खत्म कर सकते हैं तो तीन तलाक को क्यों नहीं खत्म कर सकते।




Article 370



पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि, सरकार ने 10 हफ्ते के भीतर सरदार वल्लभ भाई पटेल को सपने को पूरा किया है। पीएम मोदी ने पूछा कि जो लोग  Article 370 के हटाने का विरोध कर रहे हैं उन लोगों ने इसे पर्मानेंट क्यों नहीं किया। आखिर क्यों इसे Temporary क्यों रखा।  Article 370 और 35A को हटाने के लिए राज्य सभा, लोक सभा में पारित किया। उन्होंने कहा कि न तो हम समस्याओं को पालते हैं र न ही टालते हैं। जो पिछले 70 साल में नहीं हुआ, उसे 70 दिन में कर दिया।




जल जीवन



पीएम मोदी ने पानी की किल्लत को देखते हुए कहा कि हमें जल संरक्षण पर खास तौर से ध्यान देना चाहिए। पानी की समस्या को दूर करने के लिए साढ़े तीन लाख रुपये खर्च करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि जल संचय, बारिश के पानी को रोकना और खराब जल को पीने योग्य बनाना है। हर गांव तक स्वच्छ पेय जल की व्यवस्था करना है। इसके लिए जल अभियान बनना चाहिए। पीएम मोदी न कहा कि पानी के महत्व को देखते हुए एक अलग से मंत्रालय बनेगा। आज गरीबों के लिए स्वच्छ पेय जल की व्यवस्था नहीं है। इसलिए हमने इस सरकार में विशेष कार्य पर बल दिया है। बच्चों को पानी बचाने की जागरूकता के प्रति शुरुआत से शिक्षा देने की जरूरत है।
पीएम मोदी ने कहा कि, 100 साल पहले एक संत लिख कर गए थे कि पानी किराने की दुकान में बिकेगा। ऐसे में अब हमें न थकना है, न आगे बढ़ने से रुकना है। ये पानी का अभियान स्वच्छता की तरह आगे बढ़ाना है। हमें चुनौतियों को सामने से स्वीकार करने का वक्त आ गया है। 




भ्रष्टाचार पर पीएम ने किया हमला



पीएम मोदी ने कहा कि आज भ्रष्टाचार हमारे घरों में दीमक की तरह घुसा हुआ है। व्यव्सथा चलाने के लिए लोगों क दिल दिमाग में बदलाव की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमने भ्रष्ट अधिकारियों की छुट्टी कर नी शुरु कर दी है। ईमानदारी पारदर्शिता को बल देने की जरूरत है। आम जनता के हर मुसीबत में सरकार को साथ में रहना चाहिए, लेकिन किसी के ऊपर सरकार का बेवजह दबाव नहीं होना चाहिए। यानी कुल मिलाकर उन्होंने कहा कि न तो सरकार का दबाव हो और न ही अभाव हो।




जनसंखया विस्फोट



पीएम मोदी लाल किले से कहा कि ज हमारे देश की सबसे बड़ी समस्या जनसंख्या विस्फोट है। इससे निपटने की सख्त जरूरत है। एक छोटा परिवार अपने परिवार का भला करते हुए देश का भी भला करता है। 




पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था



पीएम मोदी ने कहा कि साल 2014 के पहले भारत की अर्थव्यवस्था 2 ट्रिलियन थी। यानी पिछले 70 सालों में 2 ट्रिलियन ही पहुंच पाई थी। साल 2014-19 के बीच हम 2-3 ट्रिलियन तक पहुंच गए हैं। जल्द ही हम 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएंगे। 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था हासिल करना कोई मुश्किल काम नहीं है।




डिजिटल पेमेंट



पीएम मोदी ने दुकानों में लगे एक बोर्ड का जिक्र करते हुए कहा कि दुकानों में लिखा रहता है कि आज नगद, कल उधार।
अब डिजिटल हां, नगद ना का बोर्ड लगाया जाना चाहिए। कुल मिलकार उनका कहने का मतलब ये था कि डिजिटल पेमेंट क बढ़ावा दिया। जिससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा।




पर्यटन



पर्यटन पर पीएम मोदी ने कहा कि मैं देशवासियों से अपील करता हूं कि साल 2022 में जब हम 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे होंगे तो देश के कम से कम 15 पर्यटन स्थलों पर जरूर जाएं। ताकि पर्यटन को बढ़ावा मिल सके। पर्यटन से देश की आर्थिक स्थिति बेहत होती है।



सेना पर पीएम मोदी का बड़ा एलान



पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि तीनों सेनाओं में बेहतर तालमेल के लिए एक सेना प्रमुख होगा। यानी जल सेना, वायु सेना और थल सेना का एक चीफ होगा। इसके चीफ ऑफ डिफेंस यानी CDS का पद बनाया जाएगा। इससे हमारी सेना मजबूत होगी।




आतंकवाद



आतंकवाद पर पीएम मोदी ने कहा कि श्रीलंका और अफगानिस्तान भी आतंकवाद का शिकार हैं। उन्होंने पाक का नाम लिए बिना कहा कि, आतंकवाद को एक्सपोर्ट करने वालों को बेनकाब करने का वक्त आ गया है।
पीएम मोदी अफगानिस्तान के आने वाले स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी है।


प्लास्टिक से मुक्ति



पीएम मोदी ने महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर से प्लास्टिक से मुक्ति के अभियान की शुरुआत करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि जैसे स्वच्छता अभियान चलाया गया था। वैसा ही प्लास्टिक पर भी अभियान की जरूरत है। दुकानदारों से अपील की है कि वो बोर्ड लगा दें कि कृपया प्लास्टिक की थैली न मांगे। उन्होंने कहा कि हम दीवाली में डायरी मिठाई दि गिफ्ट देते हैं। इस बार सभी लोग कपड़े का थैला गिफ्ट करें। ताकि लोग प्लास्टिक के प्रति जागरूक हों। और इसका इस्तेमाल बंद कर दें।





लोकल प्रोडक्ट्स को अहमियत और किसानों से की अपील



पीएम मोदी ने कहा कि हमें हमेशा खरीदारी करते समय लोकल प्रोडक्ट्स को प्राथमिकता देना चाहिए। इससे देश गांव की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। बेहतर (सुहाने) कल के लिए लोकल प्रोडक्ट्स को प्रथम वरीयता दें।



पीएम ने आगे कहा कि मैं देश के किसानों से एक आग्रह करता हूं कि देश के किसान केमिकल रूपी खाद का इस्तेमाल बंद कर दें।



उन्होंने उम्मीद की है कि देश के किसानों की आय दो गुनी होनी चाहिए। पीएम मोदी का सपना है कि देश का किसान निर्यातक (एक्सपोर्टर) बनें। हम दुनिया के बाजार में पहुंचने की भरसक कोशिश कर रहे हैं।



हर जिले में कुछ न कुछ खासियत होती है। वहां का कोई न कोई प्रोडक्ट जरूर फेमस होता है। ऐसे में हर जिले में एक एक्सपोर्ट हब बने। ताकि अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिल सके।



वन नेशन-वन इलेक्शन



पीएम मोदी ने कहा कि, आज पूरा देश कह सकता है कि वन नेशन-वन कॉन्स्टिट्यूशन। पीएम ने कहाकि हमने GST जरिए वन नेशन वन टैक्स का सपना साकार किया है। सरकार ने वन नेशन वन मोबिलिटी कार्ड की व्यवस्था की है। अब देश चाहता है कि वन नेशन वन इलेक्शन हो। यानी एक देश एक चुनाव की मांग हो रही है।




इन्फ्रास्ट्रक्चर



देश के बदलते मिजाज को पीएम मोदी ने कहा कि आज लोग ये नहीं पूछते कि पक्की सड़क बनेगी या नहीं, बल्कि ये पूछते हैं कि सड़क 6 लाइन है या 4 लाइन यानी मोदी सरकार का कहने का मतलब ये है कि लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं। यही उम्मीदें देश को आगे बढ़ाती है। उन्होंने कहा कि 100 लाख रुपये आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किए जाएंगे। इसमें आधुनिक अस्पताल, आधुनिक शिक्षा आदि शामिल है।





चंद्रयान



पीएम मोदी ने चंद्रयान 2 का जिक्र करते हुए कहा कि यह देश के वैज्ञानिकों की सबसे बड़ी उपलब्धि है।


भाषण के आखिरी में पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश के लिए जीने मरने वालों को नमन करता हूं। एकसाथ बोलेंगे, जय हिंद... जय हिंद... भारत माता की जय..




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।